--Advertisement--

पिता का इलाज करा रही रिम्स में युवती के साथ दुष्कर्म का प्रयास

पिता का इलाज करा रही रिम्स में युवती के साथ दुष्कर्म का प्रयास

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 04:33 PM IST
घटनास्थल का मुआयना करती पुलिस घटनास्थल का मुआयना करती पुलिस

रांची। रिम्स में दो महीने से अपने पिता का इलाज करा रही एक महिला को चार युवकों ने दुष्कर्म के लिए गुरुवार की शाम उठाने का प्रयास किया। लेकिन महिला के शोर मचाने पर रिम्स परिसर में तैनात गार्ड मौके पर पहुंच गए। इसके बाद सभी वहां से भाग खड़े हुए। शुक्रवार को पुलिस को जब इसकी जानकारी मिली तो सदर डीएसपी विकास चंद्र श्रीवास्तव, बरियातू थाना प्रभारी व महिला थाना प्रभारी दीपिका प्रसाद के साथ रिम्स पहुंचे।

-डीएसपी ने घटनास्थल का मुआयना किया, फिर महिला थाना प्रभारी ने पीड़िता का बयान दर्ज किया। महिला ने पुलिस को बयान दिया कि वह रिम्स परिसर में गुरुवारा शाम बने नए शीत गृह के पास पानी लाने के लिए गई थी। वह पानी लाने जा ही रही थी कि रास्ते में उसे चार युवक मिले।
-उनमें से एक ने उसका मुंह दबा दिया और अन्य उसे उठा कर सुनसान जगह पर ले जाने के प्रयास करने लगे। लेकिन उसने विरोध किया और शोर मचाने लगी। उसकी शोर सुन पास में ही तैनात रिम्स के सुरक्षा गार्ड वहां पहुंच गए। उन्हें आते देख चारों युवक वहां से फरार हो गया। महिला के बयान पर बरियातू थाने में अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

चर्म रोग विभाग में चल रहा है पिता का इलाज
-महिला ने बताया कि वह मूल रूप से पुरुलिया बंगाल की रहने वाली है। वह शादी शुदा है और उसके दो बच्चे है। लेकिन उसके पति ने उसे छोड़ दिया है। वर्तमान में वह अपनी मां व पिता के सात तुपुदाना के शतरंजी में रहती है। उसके पिता का विगत दो महीने से रिम्स के चर्म रोग विभाग में इलाज चल रहा है।
-महिला अस्पताल में ही अपने पिता के साथ वहीं रहती है। घटना के बाद डीएसपी सदर ने कहा कि रिम्स परिसर में एक पुलिस पीकेट बनाने की अनुशंसा की जाएगी। वहीं, घटना की जानकारी मिलने के बाद कुछ समाजसेवी भी रिम्स पहुंचे और रिम्स के सुरक्षा गार्ड को हटाने की मांग की।

शराब की बोतलें मिलीं

-घटनास्थल के पास से पुलिस को शराब की बोतलें मिलीं। इसे देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि रिम्स के नए शीत गृह के पास शराबियों का अड्डा लगता है। उन्ही में से कुछ ने युवती को अकेले देख, दुष्कर्म करने का प्रयास किया।

फोटो: राजीव गोस्वामी।