Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Jobs Of Director And Secretary In Jharkhand

शिक्षा में सुधार के लिए बनी शैक्षणिक परिषद में निदेशक से लेकर सचिव तक की होगी बहाली, ६७ हजार रुपया तक वेतन

शिक्षा में सुधार के लिए बनी शैक्षणिक परिषद में निदेशक से लेकर सचिव तक की होगी बहाली, ६७ हजार रुपया तक वेतन

Santosh Choudhry | Last Modified - Nov 11, 2017, 11:01 AM IST

रांची। शिक्षा में गुणात्मक विकास और सुधार के लिए बनी झारखंड शैक्षणिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद में निदेशक, उपनिदेशक सहायक निदेशक और सचिव के पद पर बहाली की प्रक्रिया शुरू हो गई है। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इसके लिए आवेदन आमंत्रित किया है। 30 नवंबर तक योग्य अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं।

- परिषद में निदेशक के एक पद के लिए बहाली होगी। इसके लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कला अथवा विज्ञान व वाणिज्य विषय में स्नातकोत्तर की डिग्री होना जरूरी है।

- चयनित अभ्यर्थी को 37400 - 67000 रुपए वेतनमान मिलेगा। समकक्ष वेतनमान में केंद्र व राज्य सरकार सेवा संवर्ग के पदाधिकारी , 10 से 15 वर्षों तक शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने का अनुभव रखने वाले पदाधिकारियों को प्राथमिकता दी जाएगी।
- उप निदेशक पद के लिए 15600 रुपेश 39100 रुपए का वेतनमान दिया जाएगा। दो उपनिदेशक की बहाली होगी।

- इसके लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कला अथवा विज्ञान अथवा वाणिज्य संकाय में स्नातकोत्तर और समकक्ष वेतनमान में केंद्र व राज्य सरकार संवर्ग के पदाधिकारी और 10 से 15 वर्षों का कार्य अनुभव रखने वाले को प्राथमिकता दी जाएगी।
- सहायक निदेशक के 2 पदों के लिए 15600- 39100 रुपये का वेतनमान मिलेगा। इसके लिए कला, विज्ञान अथवा वाणिज्य विषय में स्नातकोत्तर की डिग्री होना जरूरी है। 10 से 15 वर्षों तक शिक्षा के क्षेत्र में कार्य अनुभव रखने वाले को प्राथमिकता दी जाएगी।
- सचिव के 1 पद के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कला अथवा विज्ञान तथा वाणिज्य संकाय में स्नातक की डिग्री होना जरूरी है।
- योग्य अभ्यर्थियों को अपना आवेदन पत्र संयुक्त सचिव, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, एमडीआई भवन, धुर्वा, रांची, झारखंड, पिन नंबर 834004 पर भेज सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×