ऑपरेशन त्रिशूल / नक्सलियाें के खात्मा तक चलेगा अभियान, तमाड़ में 650 ऊंची पहाड़ी पर बाइक से पहुंचे डीजीपी

डीजीपी कमल नयन चौबे। डीजीपी कमल नयन चौबे।
X
डीजीपी कमल नयन चौबे।डीजीपी कमल नयन चौबे।

  • डीजीपी कमल नयन चौबे गुरुवार को तमाड़ के अति नक्सल प्रभावित पंचायत आराहंगा पहुंचे
  • सीआरपीएफ कैंप में बैठकर नक्सलियाें के खिलाफ ऑपरेशन त्रिशूल की रणनीति बनाई

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 10:06 AM IST

तमाड़ (रांची). झारखंड के डीजीपी कमल नयन चौबे गुरुवार को तमाड़ के अति नक्सल प्रभावित पंचायत आराहंगा पहुंचे। उन्होंने 650 ऊंची पहाड़ी पर बने सीअारपीएफ कैंप में बैठकर नक्सलियाें के खिलाफ चलने वाले अॉपरेशन त्रिशूल की रणनीति बनाई। वे हेलिकाॅप्टर से पहाड़ी के बीच उतरे। बाइक से करीब दाे किमी की दूरी तय की। उन्हाेंने कहा कि झारखंड में नक्सली गतिविधि पर राेक लगी है। कभी इन बीहड़ाें में नक्सलियों की चलती थी, लेकिन जवानाें ने उन्हें खदेड़ दिया या मार गिराया। अब बचे नक्सलियाें का खात्मा करना है। वे सरेंडर कर दें, नहीं ताे मारे जाएंगे। नक्सलियाें के खात्मा तक अाॅपरेशन त्रिशूल जारी रहेगा।

हवाई सर्वेक्षण भी किया
डीजीपी ने कहा- माओवादियों ने काफी परेशान किया है। नक्सलियाें काे मिटाने वाले जवान बीहड़ाें में रहते हैं। मेरी जिम्मेदारी है कि उनका हौसला बढ़ाऊं इसलिए यहां अाया हूं। डीजीपी ने हवाई सर्वेक्षण भी किया और सरायकेला-खरसावां भी गए। उनके साथ डीआईजी साकेत कुमार, कोल्हान डीआईजी कुलदीप द्विवेदी, एसएसपी अनीश गुप्ता, ग्रामीण एसपी ऋषभ झा, अभियान एसपी सरोज कुमार भी थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना