जमशेदपुर / चाईबासा में सात लोगों की हुई सामूहिक हत्याकांड की जांच करेगा राष्ट्रीय एसटी अायाेग

नरसंहार के 16वें दिन प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई ने दावा किया कि माओवादियों के साथ मिलकर पत्थलगड़ी समर्थकों ने नरसंहार किया था।- फाइल। नरसंहार के 16वें दिन प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई ने दावा किया कि माओवादियों के साथ मिलकर पत्थलगड़ी समर्थकों ने नरसंहार किया था।- फाइल।
X
नरसंहार के 16वें दिन प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई ने दावा किया कि माओवादियों के साथ मिलकर पत्थलगड़ी समर्थकों ने नरसंहार किया था।- फाइल।नरसंहार के 16वें दिन प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई ने दावा किया कि माओवादियों के साथ मिलकर पत्थलगड़ी समर्थकों ने नरसंहार किया था।- फाइल।

  • राष्ट्रीय एसटी आयोग ने मुख्य सचिव, डीजीपी अाैर जिले के एसपी को जारी किया नोटिस, मांगी विस्तृत जानकारी

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 06:19 PM IST

रांची. राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग ने पिछले दिनों चाईबासा में सात लोगों की हुई सामूहिक हत्या के मामले की जांच करने का निर्णय लिया है। इसके लिए अायाेग ने राज्य के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक के अलावा पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक को नोटिस जारी किया है। आयोग के डायरेक्टर डॉ ललित लट्टा की ओर से अफसराें काे जारी नोटिस में दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर का भी हवाला दिया गया है। 

आयोग ने कहा है कि उसने भारत के संविधान के तहत मिली शक्तियों का अनुसरण करते हुए इस मामले में जांच करने का निश्चय किया है। इसलिए इस मामले में की गई कार्रवाई के साथ ही घटना से जुड़े सभी तथ्य की जानकारी आयोग को जल्द से जल्द उपलब्ध कराया जाए।

उल्लेखनीय है कि गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव में गत 19 जनवरी को उपमुखिया जेम्स बूढ़ समेत सात ग्रामीणों की अपहरण कर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद गांव के पास जंगल में ले जाकर सबके सिर काटकर फेंक दिए थे। पुलिस ने 22 जनवरी को सबके शव बरामद कर राणसी बूढ़, जितेंद्र बूढ़ और कोंजे बूढ़ को हिरासत में ले लिया था। बाद में एसअाईटी का गठन कर इस मामले की जांच कराई गई थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना