भारी बारिश से चतरा-हजारीबाग का संपर्क टूटा 10 घंटे आवागमन बंद, बहेरवा डायवर्सन ध्वस्त / भारी बारिश से चतरा-हजारीबाग का संपर्क टूटा 10 घंटे आवागमन बंद, बहेरवा डायवर्सन ध्वस्त

मूसलाधार बारिश से जलस्तर बढ़ने से बलबल पुल के ऊपर से पानी का बहाव और कई गांव टापू में तब्दील

Bhaskar News

Jul 26, 2018, 07:04 AM IST
गभग दो बजे डायवर्सन को मरम्मत गभग दो बजे डायवर्सन को मरम्मत

चतरा. चतरा जिले में पिछले 48 घंटे के दौरान हुई भारी बारिश से हजारीबाग से जोड़ने वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है वहीं बारह से अधिक गांवों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। वर्षा के पानी के तेज बहाव से बुधवार तड़के चतरा-हजारीबाग सड़क पर बेहरवा नाला के निकट बना डायवर्जन टूट गया, वहीं बलबल नदी पर बने बांध के ऊपर से पानी बहने लगा। चतरा से हजारीबाग जाने वाली सड़क पर 10 घंटे तक आवागमन ठप रहा। लोगों को हजारीबाग पहुंचने के लिए लंबे मार्ग का सहारा लेना पड़ा। लगभग दो बजे डायवर्सन को मरम्मत किए जाने के बाद आवागमन शुरू हुआ।


बकुलिया नदी के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण आस-पास के गांवों में आई बाढ़ से मिट्टी के कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। गांव के लोगों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क भी टूट गया है। पिपरवार से मिली सूचना के अनुसार, सफाई नदी के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण यहां कोयला लदान का काम पूरी तरह से ठप हो गया है। सड़क पर डम्पर और हाइवा (ट्रक) की लंबी कतार लगने के कारण लोगों का आवागमन भी अवरुद्ध हो गया है।

पतरातू डैम का फाटक खोलने से दामोदर में बाढ़, रजरप्पा में बाल-बाल बचे श्रद्धालु

सिद्धपीठ रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिका मंदिर प्रक्षेत्र के दामोदर नदी में बुधवार को दोपहर दो बजकर पांच मिनट पर अचानक बिना बारिश के ही बाढ़ की स्थिति बन गई। यह स्थिति पतरातू स्थित डैम का फाटक खोले जाने के बाद बनी। बगैर सूचना के ही पानी छोड़े जाने के कारण कई लोगों की जान पर बन आई थी। दरअसल, जिस समय दामोदर का जलस्तर बढ़ने लगा, उसी समय नदी में कम से कम चार नाविक अपने नाव में दर्जनों श्रद्धालुओं को नौका विहार करा रहे थे। नाविकों को जब एहसास हुआ कि नदी का जलस्तर बढ़ रहा है तो आनन-फानन में नौका को नदी के किनारे लगाकर श्रद्धालुओं की जान बचाई।

छिन्नमस्तिका मंदिर का तांत्रिक घाट डूबा : बाढ़ के बाद दामोदर नदी का पानी तांत्रिक घाट तक पहुंच गया है। इसे देखते हुए घाट स्थित फूल प्रसाद के दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें हटाने लगे। इस बीच दो दुकानें पूरी तरह पानी में बह गई।

X
गभग दो बजे डायवर्सन को मरम्मत गभग दो बजे डायवर्सन को मरम्मत
COMMENT