साधा निशाना / मुख्यमंत्री ने अपनी संपत्ति घोषित की, सोरेन परिवार की संपत्ति पूछी

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 02:22 AM IST


मुख्यमंत्री रघुवर दास। मुख्यमंत्री रघुवर दास।
X
मुख्यमंत्री रघुवर दास।मुख्यमंत्री रघुवर दास।
  • comment

  • रघुवर बोले- मेरे पास पिता का एक घर, कंपनी का 3 कमरों वाला क्वार्टर और एक मकान, इसके अलवा कोई संपत्ति नहीं
  • सीएम ने अपनी संपत्ति की घोषणा कर दी, लेकिन उनकी सरकार के मंत्री कब अपनी संपत्ति घोषित करेंगे

जमशेदपुर. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को एक बार फिर झामुमो पर निशाना साधा। उन्होंने सिदगोड़ा में बिजली सब स्टेशन के उद्घाटन समारोह के खुले मंच से अपनी संपत्ति की घोषणा करते हुए झामुमो नेताओं को चुनौती दी। कहा-मैं 1995 से विधायक, मंत्री, डिप्टी सीएम रहा और अब सीएम हूं। मेरे पास भालूबासा में पिता का एक मकान, एग्रीको में कंपनी के तीन कमरों वाला क्वार्टर और सीतारामडेरा में एक घर है। 1995 में स्कूटर से प्रचार करता था। इतने साल बाद भी मेरे पास इसके अलावा काेई संपत्ति नहीं है।

 

उन्होंने कहा कि झामुमो नेता बताएं कि उनके पास करोड़ों की संपत्ति कहां से आ गई? जनता को यह जानने का अधिकार है कि सोरेन परिवार के पास कितनी जमीन है? वे कितने करोड़ के मालिक हैं और यह धन कहां से आया? उन्होंने कहा-झामुमो नेता मेरी चुनौती स्वीकार करें और अपनी संपत्ति सार्वजनिक करें। रघुवर दास ने कहा कि झामुमो नेताओं ने आदिवासियों को लूटने का काम किया है और ऐसे लोग मेरी सरकार पर आरोप लगाते हैं। भाजपा सरकार ने स्थानीय नीति बनाई और टीचर-डॉक्टरों की नियुक्ति की। आदिवासियों की रक्षा के लिए जनजातीय आयोग बनाया। झामुमो बताए कि लूट के सिवा उसने क्या किया?

 

उन्होंने कहा-लोकसभा के चुनाव प्रचार में आदिवासी समुदाय के बीच मैं हेमंत सोरेन को बेनकाब करूंगा। मेरे पास ऐसी कई जानकारियां हैं, जो जनता को बताऊंगा। लोकसभा चुनाव में झारखंड नामधारी दलों का नामोनिशान मिट जाएगा। जनता ऐसे दलों का शटर बंद कर देगी।


टाटा स्टील नहीं होती तो न शहर बसता और न मैं विधायक व मुख्यमंत्री बनता : रघुवर दास ने कहा-हम टाटा स्टील के संस्थापक जमशेदजी नसरवान जी टाटा के वंशज हैं। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं, क्योंकि टाटा स्टील नहीं होता तो शहर भी नहीं होता। ऐसे में न मैं विधायक बनता और न सीएम। यहां जो कुछ है, टाटाजी की सोच का परिणाम है। जिन्होंने गुलामी के दौर में कालीमाटी में कंपनी लगाई। उन्होंने कहा-मैंने चीन समेत कई देशों का भ्रमण किया। दुनिया में ऐसी कंपनी कहीं नहीं देखी। झारखंड में ऐसी कंपनी होने पर मुझे गर्व है।


15 को खेलगांव में एक लाख महिलाओं को देंगे एलपीजी कनेक्शन : मुख्यमंत्री ने कहा- 15 फरवरी को रांची के खेलगांव में एक लाख गरीब महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन दिया जाएगा। गरीब बच्चियों को किसी सरकारी दफ्तर का चक्कर नहीं लगाना पड़े, इसके लिए सचिव को डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के जरिए बुधवार तक स्कूल जाने वाली बच्चियों को बैंक खाते में सीएम सुकन्या योजना की पांच हजार रुपए की अनुदान राशि भेजने की अधिसूचना जारी करने का आदेश दिया है। इससे 28 लाख गरीब परिवार को लाभ मिलेगा। गरीब का बच्चा सिर्फ चपरासी न बने, इसलिए सरकार शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देने का काम कर रही है। उन्हें तकनीकी ज्ञान भी देगी। अब डिग्री लेने से काम नहीं चलेगा। यह नॉलेज का जमाना है, ऐसे लोग ही आगे बढ़ेंगे।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें