--Advertisement--

मुख्यमंत्री ही प्रधानमंत्री की ड्रीम योजनाओं को लगा रहें पलीता : योगेन्द्र प्रताप सिंह

जेवीएम केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह ने कहा- झारखंड के सीएम केवल अखबारी नेता हैं

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 06:26 PM IST
Chief Minister dream plans to be PM dream: Yogendra Pratap Singh

रांची. झाविमो ने कहा है कि प्रधानमंत्री अपने जिस सीएम रघुवर दास का गुणगान करते नहीं थकते, वही सीएम प्रधानमंत्री की ही कई ड्रीम प्रोजेक्ट को अपने ही राज्य में पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। पार्टी केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जिसे डायनेमिक व होनहार मानते हैं, वे पूरी तरह नाकाबिल सीएम साबित हो रहे हैं। झारखंड में प्रधानमंत्री की कई योजनाओं का बुरा हश्र है। चाहे वह प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का मामला हो, पूरे देश भर में पायलट योजना के तौर पर नगड़ी में प्रारंभ हुए डीबीटी योजना पर सरकार का यू-टर्न हो या फिर सेविकाओं के लिए खरीदे गए 5000 स्मार्ट फोन को यूं ही फेंकने का मामला हो।

सिस्टम को स्मार्ट बनाने में भी फिसड्डी साबित हुई सरकार

उन्होंने कहा- सरकार द्वारा वर्ष 2017-18 में अपना हिस्सा 271 करोड़ रुपए नहीं आवंटित करने के कारण केन्द्र ने वर्ष 2018-19 के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की पहली किस्त 700 करोड़ रुपए रोक दी है। झारखंड सरकार की लेटलतीफी के कारण यह योजना प्रभावित हो रही हैं और काम जून महीने से ही बंद पड़ा है। वहीं, नगड़ी में देशभर में पहली बार प्रारंभ हुए पायलट योजना डीबीटी पर झारखंड सरकार के यू-टर्न से प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया के नारे को तो जोरदार धक्का लगा ही है। साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर रघुवर की काफी किरकिरी हुई है। वहीं, आंगनबाड़ी सेविकाओं को स्मार्ट फोन देकर सिस्टम को स्मार्ट बनाने में भी रघुवर सरकार फिसड्डी साबित हुई है। पौने दो करोड़ में खरीदे गए 5000 स्मार्ट फोन नौ माह बाद भी सेविकाओं तक सिम के अभाव में पहुंचाया नहीं जा सका है। बताया जा रहा है कि बेकार रखे जाने के कारण अब फोन की बैट्री को बदलने की नौबत आ गई है। स्पष्ट है कि झारखंड के सीएम केवल अखबारी नेता हैं। इनका धरातल पर काम शून्य है। 2019 में जनता सब हिसाब कर देगी।

X
Chief Minister dream plans to be PM dream: Yogendra Pratap Singh
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..