--Advertisement--

निर्देश / मुख्यमंत्री ने कहा- स्वच्छता ही सेवा अभियान जनांदोलन के रूप में चलेगा



मुख्यमंत्री ने झारखंड के सभी डीसी को वीडियो-कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने झारखंड के सभी डीसी को वीडियो-कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में निर्देश दिया।
  • झारखंड के सभी जिलों में चलेगा स्वच्छता अभियान, मुख्यमंत्री ने सभी डीसी को दिया निर्देश
Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:31 PM IST

रांची.  मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छ भारत अभियान को देशभर में सबसे ज्यादा सराहा गया है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने के लिए झारखंड सरकार कृतसंकल्पित होकर काम कर रही है। काम अब अंतिम चरण में है। 15 सितंबर से पूरे देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हो रही है। इस दौरान न गंदगी करेंगे और न करने देंगे का संकल्प सभी लेंगे। दो अक्टूबर महात्मा गांधी की जंयती तक चलनेवाले इस अभियान को जन आंदोलन बनाना है। उक्त निर्देश उन्होंने झारखंड के सभी डीसी को वीडियो-कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में दिया।

 

राज्य को पूरी तरह खुले में शौचमुक्त करने का लक्ष्य पूरा हो जाएगा
मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री, जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी, आम लोग, व्यापारिक संगठन, सामाजिक संगठन के प्रतिनिधियों को इसमें भागीदारी करनी है। इसके तहत हर दिन में एक घंटा सभी को साफ-सफाई के लिए श्रमदान करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी दौरान राज्य को पूरी तरह खुले में शौचमुक्त करने का लक्ष्य पूरा हो जाएगा। दो अक्टूबर को झारखंड खुले में शौचमुक्त हो जाएगा। जिन आठ जिलों में काम पीछे है, मुख्यमंत्री ने उन जिलों क डीसी से बातकर 30 सिंतबर तक लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में भी झारखंड अव्वल आए, इसके लिए अलग से कार्य योजना बनाई जाएगी। राज्य में शत प्रतिशत शौचालय बन रहे हैं। उनका उपयोग हो, इसके लिए जन जागरण अभियान चलाया जाएगा।

 

17 से 25 सितम्बर तक सेवा दिवस
मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी क्रम में 17 से 25 सितम्बर तक सेवा दिवस मनाया जायेगा। इसके तहत शहरी स्लम में हेल्थ चेकअप कैंप लगाये जायेंगे। सभी उपायुक्त जिले के सिविल सर्जन के साथ बैठक कर एक कार्यक्रम बना लें। जहां कैंप लगना है, उस क्षेत्र को चिह्नित कर लें। इसमें भी जनप्रतिनिधियों के साथ सामाजिक-व्यापारिक संगठनों को जोड़ें। मेडिकल कैंप लगाकर गरीब, असहाय एवं सामान्य लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जायेगी। साथ ही, सभी क्षेत्रों में एलईडी वाहनों एवं स्थायी स्क्रीनों पर प्रधानमंत्री के जीवन पर बनी प्रेरक लघु फिल्म चलो जीते हैं भी प्रदर्शित की जाएगी।

 

अच्छा काम करनेवाले कर्मचारियों को पुरस्कृत किया जाएगा
उन्होंने कहा- इसके साथ ही 23 सिंतबर से आयुष्मान भारत की शुरुआत पूरे देश में झारखंड से हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं झारखंड आ रहे हैं। आयुष्मान भारत के तहत झारखंड राज्य के चिन्हित 57 लाख परिवारों को 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा किया जाएगा। आयुष्मान भारत सफलतापूर्वक झारखंड में लागू हो सके इसके लिए सांसद, विधायक सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं सामाजिक संगठन से जुड़े लोग अपने-अपने क्षेत्रों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। राज्य के सरकारी अस्पताल इसके लिए तैयारी पूरी कर लें। राज्य के 57 लाख परिवारों को उनका यह हक मिले, इसे सुनिश्चित किया जा रहा है। जब तक एक-एक परिवार को इसका लाभ नहीं मिलेगा, तब तक यह अभियान निरंतर चलता रहेगा। इसके साथ ही मजदूरों व सफाई कर्मचारियों का एक सम्मेलन भी आयोजित किया जाएगा। इसमें अच्छा काम करनेवाले कर्मचारियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

 

बैठक में ये थे उपस्थित
बैठक में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार बर्णवाल, जल संसाधन व स्वच्छता विभाग की सचिव अराधना पटनायक, शहरी विकास विभाग के सचिव अजय कुमार समेत अन्य वरीय अधिकारी व वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सभी 24 जिलों के डीसी उपस्थित थे।

--Advertisement--