• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • Ranchi - स्वच्छता ही सेवा अभियान को दें जनांदोलन का रूप : मुख्यमंत्री
--Advertisement--

स्वच्छता ही सेवा अभियान को दें जनांदोलन का रूप : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान को देशभर में सबसे ज्यादा सराहा...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:56 AM IST
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान को देशभर में सबसे ज्यादा सराहा गया है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने के लिए झारखंड सरकार भी संकल्पित होकर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य को स्वच्छ बनाने का काम अब अंतिम चरण में है। 15 सितंबर से पूरे देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हो रही है। इस दौरान न गंदगी करेंगे और न करने देंगे का संकल्प लेने की जरूरत है। दो अक्टूबर महात्मा गांधी की जयंती तक चलने वाले इस अभियान को हमें जन आंदोलन बनाना है।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जिलों के उपायुक्तों को बुधवार को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्री, जनप्रतिनिधि, अधिकारी, आम जनता और व्यापारिक व सामाजिक संगठनों को इस अभियान से जोड़ कर सफल बनाएं। इसके लिए प्रत्येक व्यक्ति एक घंटा का समय सफाई के लिए श्रमदान करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि दो अक्टूबर को झारखंड खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा। जिन आठ जिलों में यह काम पीछे है, उन जिलों के डीसी को मुख्यमंत्री ने 30 सितंबर तक लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया। बैठक में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, निधि खरे, सुनील कुमार बर्णवाल, अाराधना पटनायक, अजय कुमार समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

15 सितंबर से दो अक्टूबर तक चलेगा स्वच्छता ही सेवा अभियान

मुख्यमंत्री को ई-कार की चाबी सौंपते बिजली वितरण निगम के अधिकारी।

सभी विभाग ई-कार का इस्तेमाल करें, सरकार प्रयास करेगी

रांची/हटिया | ई-मोबिलिटी कार्यक्रम के तहत ई-कार इस्तेमाल करने वाला झारखंड पूर्वोत्तर भारत का पहला एवं देश का पांचवां राज्य बन गया। बुधवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास की उपस्थिति में ईईएसएल के सीईओ वेंकटेश तिवारी एवं बिजली वितरण निगम के चीफ इंजीनियर सीएंडआर सुनील ठाकुर बीच 50 ई-वाहन के लिए करार हुआ। पहले चरण में कंपनी ने बिजली निगम को 20 वाहन सौंपा। अगले दो सप्ताह के अंदर 30 और वाहन निगम को सौंप दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आशा प्रकट की है कि आम जनता भी इन वाहनों के इस्तेमाल के लिए प्रेरित होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी जलवायु परिवर्तन और वाहनों के प्रदूषण से जनता के स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान से बचाएगी।

एनर्जी इफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) के मैनेजिंग डायरेक्टर सौरभ कुमार ने कहा कि इन 50 कारों का बेड़ा आने से वितरण निगम का हर साल 1 लाख 20 हजार लीटर इंधन बचेगा। लगभग 1400 टन कार्बन डाइ ऑक्साइड सालाना कम उत्सर्जित होगी।

राज्यपाल से मिले सीएम कई मुद्दों पर की मंत्रणा

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से राजभवन में मुलाकात की। इसे शिष्टाचार भेंट बताया गया है। दोनों के बीच कई मुद्दों पर मंत्रणा हुई है। सीएम ने राज्यपाल को राज्य में विधि-व्यवस्था सुदृढ़ व प्रभावी बनाने के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। अपनी चीन यात्रा के दैरान वहां के निवेशकों से हुई वार्ता के बारे में भी बताया।