सीएम ने व्यक्त किया अाभार, विशेष सत्र में विपक्ष का भी नहीं हुअा विशेष प्रहार

Ranchi News - झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र इस मायने में भी एेतिहासिक रहा जब विपक्ष के विशेष प्रहार से सरकार को राहत मिली।...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:00 AM IST
Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र इस मायने में भी एेतिहासिक रहा जब विपक्ष के विशेष प्रहार से सरकार को राहत मिली। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने संबोधन में जहां सबके प्रति अाभार व्यक्त किया तो विपक्ष भी विशेष प्रहार करने से अपने को रोक लिया। सीएम ने कहा कि विधानसभा के सुंदर, सुसज्जित और बहुत अच्छे भवन के समय पर बन जाने और उद्घाटन होने के लिए राज्य की सवा तीन करोड़ जनता के प्रति अाभार प्रकट किया जिन्होंने 2014 में झारखंड को बहुमत की सरकार दी। मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनायीं। उन्होंने बताया कि 17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा और पीएम मोदी के जन्म दिन पर खूंटी में पावर सब स्टेशन का उद््घाटन किया जा रहा है। 1037 करोड़ की लागत से पीएमजीएसवाई के तहत बननेवाली सड़कों का शिलान्यास किया जा रहा है। सीएम ने बताया कि अाज 3200 आंदोलनकारी चिन्हित किये जा चुके हैं। इनमें 1961 को प्रति माह 3000 और 31 आंदोलनकारियों को 5000 रुपये प्रति माह दिया जा रहा है। यूएनडीपी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि झारखंड दुनिया में सबसे तेजी से गरीबी घटानेवाला राज्य है।

विधानसभा निर्माण में लगे मजदूरों से मिले सीएम, कहा, आप ही हैं असली शिल्पकार

मुख्यमंत्री रघुवर दास शुक्रवार को विधानसभा के निर्माण में लगे मजदूरों से मिलकर उन्हें बधाई दी। हाथ मिलाया। उन्होंने कहा कि इस भवन के असली शिल्पकार मजदूर ही हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष तौर पर आपलोगों से मिलना चाहते थे, पर समायाभाव में ऐसा नहीं हो पाया। सीएम ने कार्यरत सभी मजदूरों और कर्मियों के लिए विशेष कैंप लगाकर उन्हें पंजीकृत करने का निर्देश दिया, ताकि सरकार द्वारा उनके हित में चलाई जा रही योजनाओं का लाभ उन्हें मिल सके। इसमें दुर्घटना बीमा, स्वास्थ्य बीमा, मजदूरों के बच्चों की पढ़ाई आदि का लाभ मिलेगा।

यूएनडीपी की रिपोर्ट में झारखंड दुनिया में सबसे तेजी से गरीबी घटानेवाला राज्य

नए सदन में मुख्यमंत्री के साथ मंत्री और सत्ता पक्ष के विधायक गण।

विपक्ष के इशारे समझ पक्ष को उस पर अमल करना चाहिए : सरयू

सरयू राय ने कहा कि भवन के ईंट-ईंट में जनता का जो धन लगा है, वह सार्थक हो। प्रतिपक्ष को परिस्थिति अपने पक्ष में बदलने के लिए उपस्थित रहना चाहिए था। विपक्ष के इशारे समझ कर सरकार को सुधार करना चाहिए।

हेमंत विपक्ष के बड़े नेता, उन्हें बुलाना चाहिए था : मरांडी

पूर्व सीएम एवं झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने कहा कि विधानसभा के उद््घाटन समारोह में नहीं बुलाना विपक्ष का अपमान करने जैसा है। विधानसभा सत्र चलते रहना चाहिए था। हेमंत सोरेन विपक्ष के बड़े नेता हैं, उन्हें तो अवश्य बुलाना चाहिए था। एक दिन का सत्र चलाना कोई मतलब नहीं रखता है। इस सत्र में सभी पार्टी के लोगों को सम्मान पूर्वक बुलाने चाहिए था। मरांडी देवघर परिसदन में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

विधायकों में दिखी चिंता... अगली बार मौका मिलेगा या नहीं

जीतेंद्र कुमा | रांची

झारखंड विधानसभा के नये भवन में बैठ कर हर दल के विधायक शुक्रवार को आह्लादित थे। यह उनके चेहरे और बोल में भी दिख रहा था। साथ ही यह भी चिंता साफ झलक रही थी कि इतने खूबसूरत सदन में फिर से उन्हें बैठने का मौका मिलेगा या नहीं। विधानसभा अध्यक्ष हों, मुख्यमंत्री या विधायक, उनके भाषण में सदन में होनेवाले वाद-विवाद, बहस और धक्का-मुक्की से निकल कर चुनाव मैदान में जाने की चुनौती स्पष्ट परिलक्षित हो रही थी। स्पीकर की यह पंक्ति उसी ओर थी- कुछ दिनों बाद पांचवीं विधानसभा के लिए अाम चुनाव का आगाज होगा। हम एक बार फिर चुनाव मैदान में होंगे। इस ऐेतिहासिक अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं। मुख्यमंत्री रघुवर दास भी कुछ इस तरह बोल गए। नए वर्ष में पांचवीं विधानसभा गठित होगी। उसमें नए झारखंड की परिकल्पना अाकार लेगी। उत्साह के साथ फिर हम यहां मिलेंगे, यही उम्मीद करते हैं। अालमगीर अालम के भाषण में उनका दर्द साफ साफ झलका। उन्होंने कहा कि इस लोकतंत्र के मंदिर में हम शपथ लेते हैं, लेकिन जनता से किये वादे पूरे नहीं होते हैं। इस उम्मीद के साथ उन्होंने अपनी बात समाप्त की कि इसी सदन में हम फिर मिलेंगे।

भव्य भवन में कुछ एेतिहासिक निर्णय भी ले सरकार : प्रदीप यादव

झाविमो विधायक प्रदीप यादव ने एेतिहासिक भवन के एेतिहासिक सत्र में सरकार से एेतिहासिक निर्णय लेने की मांग की। कहा कि पांच साल में जितने काम हुए उनकी समीक्षा की जानी चाहिए।

सीएम ने हेमंत को भेजा था पत्र, मंत्री ने किया था फोन

भाजपा ने कहा है कि विधानसभा उद्घाटन कार्यक्रम में नहीं बुलाने की बात कह कर नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन गलतबयानी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उन्हें पत्र भेजा था, जबकि मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने उन्हें कई बार फोन किया था। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि हेमंत सोरेन से लगातार संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया।

सबके सहयोग से ही सर्वाधिक लंबे समय तक मैं स्पीकर की कुर्सी पर रहा : दिनेश

झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए अध्यक्ष दिनेश उरांव ने कहा कि पिछले 19 साल की अवधि में सर्वाधिक लंबे समय तक एक ही सरकार के कार्यरत रहने का कीर्तिमान स्थापित हुअा है। जिसका नेतृत्व रघुवर दास ने किया। नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन भी सबसे लंबा कार्यकाल रहा। इतना ही नहीं सदस्यों के सहयोग और समर्थन के कारण ही उनका भी स्पीकर के रूप में अब तक का सबसे लंबा कार्यकाल रहा। यह एक बड़ी उपलब्धि रही।

चतुर्थ विस में विधायी कार्यों का लेखा-जोखा






Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
X
Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
Ranchi News - cm expressed that in the special session the opposition was not even hit
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना