पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोनावायरस के चार संदिग्ध को रिम्स में कराया गया भर्ती, सभी का जांच सैंपल भेजा गया कोलकाता

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संदिग्ध मरीज को रिम्स के अाइसाेलेशन वार्ड में भर्ती कराने के बाद उसका सैंपल जांच के लिए पुणे भेजा गया है। -फाइल।
  • रांची के रहने वाले पति-पत्नी समेत कुल चार लोगों को किया गया रिम्स में भर्ती

रांची. रिम्स में बुधवार को कोरोनावायरस के चार संदिग्ध मरीजों को भर्ती कराया गया है। इनमें से रांची निवासी एक दंपती भी है। चारों के जांच सैंपल को कोलकाता भेजा गया है। साथ ही डॉक्टर की टीम लगातार संदिग्ध मरीजों पर नजर बनाए हुए हैं। संदिग्ध मरीजाें काे रिम्स के आइसाेलेशन वार्ड में रखा गया है।


दंपती के अलावे धनबाद के निरसा व पलामू से संदिग्ध मरीज को रिम्स में भर्ती कराया गया है। धनबाद का संदिग्ध मरीज 16 फरवरी काे चीन से भारत आया था। दिल्ली में दाे दिन निगरानी में रखने के बाद 18 फरवरी काे धनबाद भेजा गया और जिले की सर्विलांस टीम काे निगरानी करने का निर्देश दिया था। पांच दिन पहले युवक काे सर्दी-खांसी और बुखार हुआ ताे मंगलवार काे उसे सिविल सर्जन कार्यालय बुलाया गया। यहां से उसे रिम्स के आइसाेलेशन वार्ड में भेजा गया। उसका सैंपल जांच के लिए पुणे कोलकाता गया है। वहीं, पलामू से आए मरीज चीन के बुहान से भारत पहुंचा था।

मुख्य सचिव बाेले- झारखंड में काेराेनावायरस का मरीज नहीं, सरकार सतर्क
उधर, केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गाैबा ने मंगलवार काे वीडियाे काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के सभी मुख्य सचिवाें से काेराेना वायरस काे लेकर तैयारी की जानकारी ली। एहतियाती कदम उठाने का निर्देश भी दिया। इस दाैरान झाखंड के मुख्य सचिव डाॅक्टर डीके तिवारी ने बताया कि राज्य में काेराेना वायरस से काेई भी पीड़ित नहीं है। चीन से आए छह लाेगाें (रांची व जमशेदपुर के तीन-तीन) की राेजाना निगरानी की जा रही है। इसके बाद सभी डीसी काे एडवाइजरी जारी कर दी गई। 


इधर, राज्य सरकार ने एहतियाती कदम उठाते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत एकीकृत निगरानी कार्यालय की राज्य सर्विलांस इकाई काे कंट्राेल रूम बनाया है, जिसका संपर्क नंबर 9955837428 है। रिम्स के आइसाेलेशन कंट्राेल रूम के टेलीफाेन नंबर 0651-2542700 काे भी सक्रिय कर दिया गया है। कुल 102 आइसाेलेशन बेड चिह्नित किए गए हैं। मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन भी जागरूकता की अपील कर चुके हैं।

बीमारी के लक्षण
इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था. इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है।

बचाव के उपाय 
हाथों को साबुन से धोना चाहिए। एल्कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है। खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्यू पेपर से ढककर रखें। जिन व्यक्तियों में कोल्ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें। अंडे और मांस के सेवन से बचें। जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिवार में प्रॉपर्टी या किसी अन्य मुद्दे को लेकर जो गलतफहमियां चल रही थी आज वह किसी की मध्यस्थता से दूर होंगी। जिसकी वजह से परिवार का माहौल शांतिपूर्ण हो जाएगा। घर में नवीनीकरण या परिवर्तन सं...

और पढ़ें