पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Tamar News Cousin Fires Bullets For A Bigha Land Wife Came To Save Injured

एक बीघा जमीन के लिए चचेरे भाई ने गोलियों से भून मार डाला, बचाने आई पत्नी हुई घायल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | जमुई/ सिकंदरा

एक बीघा जमीन के विवाद में बुधवार की सुबह चचेरे भाई ने भाई की गोली मारकर हत्या कर दी और भाभी को भी घायल कर दिया। वजह यह था कि विवादित जमीन की मृतक जुताई कर रहा था। घटना सिकंदरा थानाक्षेत्र के खेवसर गांव की है। अहले सुबह गांव के 45 वर्षीय शंकर यादव प|ी किरण देवी के साथ खेत की जुताई करने निकला। गांव से दो-तीन किलोमीटर दूर स्थित बहियार में शंकर जिस खेत की जुताई कर रहा था उसपर उसके चचेरे भाई के साथ विवाद चला रहा था। इसी दौरान टुनटुन यादव, जोगी यादव, सूरज यादव आया और खेत की जुताई करता देख शंकर के साथ मारपीट शुरू कर दी। उसे बचाने शंकर की प|ी किरण देवी आई तो उन लोगों द्वारा उसकी भी पिटाई कर दी गई। प|ी को बचाने जब शंकर यादव आया तो उन लोगों द्वारा शंकर यादव पर एक-एक कर तीन गोली दाग दी जिससे मौके पर ही शंकर की मौत हो गई।

हत्या के बाद बिलखते परिजन।

खेत के रास्ते घटनास्थल पहुंची पुलिस, सभी आरोपी फरार

पुलिस ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। प|ी द्वारा बनाए गए तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा कई जगह छापेमारी भी की गई लेकिन तीनों आरोपी पुलिस की पकड़ से फरार है। बताते चलें कि मृतक खेती कर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। मृतक को दो पुत्र और तीन पुत्री है। शंकर यादव की मौत के बाद घर के मुख्य सदस्य के चले जाने से परिवार वालों पर आफत आन पड़ी है।

मधेपुरा : भूमि विवाद में मचान पर सो रहे किसान को अपराधियों मारी गोली, मौत

भास्कर न्यूज | बेलदौर/आलमनगर

खगड़िया के बेलदौर और मधेपुरा जिले के आलमनगर की सीमा क्षेत्र के पंचम बासा वार्ड संख्या- आठ में मंगलवार की रात मचान पर सोए हुए 55 वर्षीय किसान उमेश सिंह की गोली मारकर कर अपराधियों ने हत्या कर दी। गोली उनके बाएं कांख में लगी थी। नींद में होने के कारण वे चीख-पुकार भी नहीं मचा सके।

घटना की जानकारी परिजनों को सुबह में तब हुई जब मवेशियों को चारा देने के लिए मृतक उमेश सिंह के समीप ही सोए हुए उनका भतीजा एवं पुत्र उन्हें जगाने के लिए गया। इसके बाद परिजनों ने घटना सूचना थाने को दी। पुलिस जब शव ले जाने के लिए आई तो ग्रामीण वरीय पदाधिकारी को बुलाने की मांग कर शव को ले जाने से मना कर दिए। बाद में घटना की जानकारी मिलने पर पहुंचे आलमनगर के विधायक व विधि मंत्री नरेंद्र नारायण यादव के आश्वासन पर एक घंटे के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने दिया गया।

खबरें और भी हैं...