रांची / सीपी सिंह बोले- दुकान वेंडर मार्केट में लगाना सड़क पर नहीं, कार्रवाई हुई तो मैं नहीं बचाऊंगा



दिव्यांग फुटपाथ दुकानदार को वेंडर सर्टिफिकेट देते नगर विकास मंत्री। दिव्यांग फुटपाथ दुकानदार को वेंडर सर्टिफिकेट देते नगर विकास मंत्री।
X
दिव्यांग फुटपाथ दुकानदार को वेंडर सर्टिफिकेट देते नगर विकास मंत्री।दिव्यांग फुटपाथ दुकानदार को वेंडर सर्टिफिकेट देते नगर विकास मंत्री।

  • वेंडर मार्केट के उद््घाटन के 7 माह बाद फुटपाथ दुकानदारों को मिला वेंडर सर्टिफिकेट
  • लेट के लिए मंत्री ने मांगी माफी... 7 दिनों में शिफ्ट नहीं ताे होगी कार्रवाई

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2019, 04:15 AM IST

रांची. वेंडर मार्केट के उद्घाटन के 7 माह बाद शनिवार को फुटपाथ दुकानदारों को वेंडर सर्टिफिकेट दिया गया। कचहरी रोड स्थित अटल स्मृति वेंडर मार्केट में हुए कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, मेयर आशा लकड़ा और डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने फुटपाथ दुकानदारों के बीच सर्टिफिकेट बांटा। नगर विकास मंत्री ने कहा कि नवंबर में ही मुख्यमंत्री ने मार्केट का उद्घाटन किया था।

 

7 माह बीतने के बावजूद फुटपाथ दुकानदारों को मार्केट में शिफ्ट नहीं करना दिखाता है कि अफसर कितने लापरवाह हैं। उन्होंने इसके लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगी। कहा कि नगर निगम के अफसरों की इस कार्यशैली पर शर्म आती है। क्योंकि, मैं नगर विकास मंत्री हूं और रांची का विधायक भी हूं। उन्होंने कहा कि लंबे समय के संघर्ष के बाद फुटपाथ दुकानदारों को स्थाई स्थान मिला है। अब हर हाल में 7 दिनों के अंदर रोड से सभी फुटपाथ दुकानदारों को मार्केट में शिफ्ट कराएं।

 

मेयर ने मांगा फंड, मंत्री ने कहा- क्या गारंटी है कि समय पर काम होगा

राजधानी के 4 जोन में वेंडर मार्केट बनाकर फुटपाथ दुकानदारों को व्यवस्थित करने के लिए मेयर आशा लकड़ा ने नगर विकास मंत्री सीपी सिंह से फंड देने की मांग की। इस पर मंत्री ने तंज कसते हुए कहा कि सरकार के पास पैसे की कोई कमी नहीं है, लेकिन इसकी क्या गारंटी है कि फंड मिल भी जाए तो तय समय पर मार्केट बन जाएगा और मार्केट बनेगा भी तो क्या गारंटी है कि दुकानदारों को 8 माह तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने निगम को प्रस्ताव बनाकर भेजने के लिए कहा। 
 

माफिया वसूली के लिए विरोध कराने की तैयारी में

फुटपाथ दुकानदारों को वेंडर मार्केट में शिफ्ट किए जाने के मंत्री के निर्देश के बाद कई दुकानदार इसका विरोध करने की रणनीति बनाने में जुट गए हैं। दुकानदार को सामने करके कुछ माफिया रोड पर ही दुकान लगवाने की व्यवस्था बनाने में जुटे हैं। क्योंकि, फुटपाथ दुकानदारों से माफिया को प्रत्येक माह मोटी रकम मिलती है। एक दुकानदार ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि प्रत्येक माह 1500 से 2000 रुपए एक दुकानदार को देना पड़ता है, तभी रोड पर दुकान लगाने की इजाजत मिलती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना