साइबर क्राइम / राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित महिला का फेसबुक अकाउंट हैक कर दोस्तों को मैसेज भेज मांग रहा पैसे

फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • साइबर अपराधियों ने बीमारी की बात कह खाते में 15 हजार रु डालने को कहा
  • हर ओर ठगों की नजर, 29 दिसंबर काे डाेरंडा में भी इसी तरह की गई ठगी

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2020, 05:47 AM IST

रांची. साइबर ठगों ने समय के साथ ठगी का तरीका भी बदल दिया है। एटीएम कार्ड अपडेट करने के नाम पर लोगों को लाखों रुपए का चूना लगानेवाले साइबर ठग अब फेसबुक से भी ठगी की घटना को अंजाम देने लगे हैं। शहर में इस तरह के कई मामले सामने आ रहे हैं। प्राथमिकी भी हो रही है, लेकिन पुलिस साइबर अपराध रोकने में विफल साबित हो रही है।

ऐसा ही एक मामला मंगलवार को सामने आया, जब साइबर अपराधी ने बरियातू के एदलहातु रोड स्थित ग्रीन पार्क एरिया में रहने वाली राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित डॉ. माया कुमारी का फेसबुक अकाउंट हैक कर ठगी करने का प्रयास किया। डॉ. माया ने इस सबंध में बरियातू थानें में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

साइबर ठग ने कुछ को मैसेज कर अपना पेटीएम नंबर भी दिया 
पुलिस को दिए आवेदन में उन्होंने बताया है कि साइबर अपराधी उनके फेसबुक अकाउंट के फ्रेंड लिस्ट में शामिल दोस्तों को मैसेज भेजकर उनके गंभीर रूप से बीमार होने की बात कह सहायता मांग रहा है। इसके लिए वह लोगों को अपना अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड देकर 10-15 हजार रुपए देने की बात कह रहा है। यहां तक कि उसने कुछ लोगों को मैसेज कर अपना पेटीएम नंबर भी दिया है, जिस पर वह लगातार पैसे डालने के लिए कह रहा है। पुलिस इस मामले में आईटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।
 

29 दिसंबर काे डाेरंडा में भी इसी तरह की गई ठगी

29 दिसंबर काे डाेरंडा के एयरपाेर्ट राेड कुंवर सिह काॅलाेनी निवासी धर्मबीर सिन्हा से साइबर अपराधियाें ने फेसबुक के जरिये ही 10 हजार रुपए का ठगी कर ली थी। धर्मबीर सिन्हा काे उनके देवघर के पंडा दाेस्त दिवाकर मिश्रा के फेसबुक मैसेंजर पर मैसेज आया कि उनका एक्सिडेंट हाे गया है। इलाज के लिए पैसे की आवश्यकता है। अर्जेंट समझकर अकाउंट या पेटीएम से 15 हजार ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर दें। बार-बार मैसेज आने के बाद धर्मबीर सिंह ने साइबर फ्राॅड द्वारा दिए गए अकांउट पर 10 हजार रुपया ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद फिर से 20 हजार रुपए की मांग की गई, तब उन्हें शक हुआ। इसके बाद जब उन्होंने अपने दोस्त को फोन किया तो मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद उन्होंने डाेरंडा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई। लालपुर थाना क्षेत्र में रहने वाली एक शिक्षिका के साथ भी ऐसी ही घटना हुई है लेकिन अबतक मामला थाना नहीं पहुंचा है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना