--Advertisement--

ओडिशा / तूफान के बाद लोग बेटी का नाम इसलिए तितली रख रहे हैं, ताकि प्यारा शब्द नकारात्मक ना होने पाए



Cyclone Titli Odisha positive news
X
Cyclone Titli Odisha positive news
  • ओडिशा में तितली तूफान की वजह से 60 लाख से ज्यादा लोग हुए प्रभावित 
  • पिछले एक हफ्ते में राज्य में 30% से ज्यादा मां-बाप ने बेटी का नाम तितली रखा

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 10:00 AM IST

भुवनेश्वर.  ओडिशा में जिस तूफान ने तबाही मचाई है, लोग अपनी बिटिया को उसी तूफान का नाम दे रहे हैं। मकसद है सकारात्मकता का संदेश देना। तितली तूफान से काफी नुकसान हुआ, लेकिन यहां के लोग नहीं चाहते कि तितली जैसे प्यारे शब्द की लोगों के दिल में नकारात्मक छवि बने। यही वजह है कि पिछले एक हफ्ते में ओडिशा में 30% से ज्यादा मां-बाप ने अपनी बेटी का नाम तितली रखा है।
 
राज्य के गंजाम जिले के मेडिकल अफसर सदानंद मिश्रा बताते हैं कि तूफान आने के दिन या उसके बाद 64 प्रसव हुए। इनमें जिनके घर बिटिया जन्मीं, उनमें ज्यादातर ने बेटी का नाम तितली रखा। जगतसिंहपुर के सीडीएमओ अशोक पटनायक ने बताया कि उनके जिले में 18 गर्भवती महिलाओं को भर्ती कराया गया था। इनमें से 6 महिलाओं को बेटी हुई। सभी ने बेटी का नाम तितली रखा।

 

गंजाम जिले की 22 साल की अलेमा ने गुरुवार को जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया। पहली बच्ची का नाम तितली रखा। जगतसिंहपुर की बिमला ने तो डिलिवरी से पहले ही घरवालों से कह दिया था कि अगर बेटी हुई तो नाम तितली ही रखेंगे। गंजाम के डॉक्टर मोहन बरीक बताते हैं कि बुधवार-गुरुवार की रात तो जिले में 9 बच्चों का जन्म हुआ। सभी बच्चियां। तब तो खुद डॉक्टरों ने मां-बाप को सलाह दे डाली कि बच्ची का नाम तितली रख सकते हैं।

 

हैरत की बात तो ये रही कि मां-बाप एक ही बार में मान गए और बच्ची का नाम तितली रख दिया। ओडिशा में तितली की वजह से 60 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। मृतक संख्या 12 तक पहुंच गई है। वहीं आंध्र प्रदेश में भी तूफान से 2800 करोड़ रु. के नुकसान का अनुमान है। सीएम चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र से मदद मांगी है। 

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..