अयोध्या पर फैसला / झारखंड में हाई अलर्ट, धर्मगुरुओं की अपील- भाईचारा रहे प्राथमिकता



Ayodhya Ram Mandir; Ayodhya Verdict Jharkhand LIVE Updates; Ayodhya Ram Janmabhoomi Babri Masjid Case Today
X
Ayodhya Ram Mandir; Ayodhya Verdict Jharkhand LIVE Updates; Ayodhya Ram Janmabhoomi Babri Masjid Case Today

  • राजधानी में हाई अलर्ट, सभी सार्वजनिक स्थलों पर खुफिया विभाग के अधिकारियों की नजर
  • उपद्रवियों पर बरती जाएगी सख्ती, सीसीटीवी से निगरानी और वीडियोग्राफी, जुलूस निकालने पर लगी पाबंदी

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 07:57 PM IST

रांची. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर शनिवार सुबह फैसला सुनाया। इससे पूर्व ही रांची व आसपास सहित राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं और बाजार भी खुले रहे। पुलिस मुख्यालय ने एसएसपी से कहा है कि संवेदनशील इलाकाें में सीसीटीवी व वीडियोग्राफी की व्यवस्था करें। उपद्रव करने वालों की वीडियोग्राफी करें, ताकि उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जा सके। इधर, विभिन्न जिलों में पुलिस जवानों ने सुबह फ्लैग मार्च भी किया।

 

पुलिस मुख्यालय ने कहा कि उपद्रवियों के विरुद्ध पूरी तरह से सख्ती बरती जाएगी। डीजीपी कमल नयन चौबे ने कहा है कि न्यायालय का फैसला चाहे जो आए, सभी समुदाय न्यायालय के फैसले का सम्मान करें। जुलूस निकालने पर सभी पाबंदी रहेगी। जिन-जिन जगहों को संवेदनशील माना जा रहा है, वहां पुलिस नजर रख रही है। आपसी सौहार्द बिगाड़ने वालों को चिह्नित किया जा रहा है। ऐसे लोगों के विरुद्ध पुलिस दंड प्रक्रिया संहिता 107 व 116 के तहत कार्रवाई करेगी। रांची में सभी जगहों पर एंटी रायट ड्रिल जारी है। फ्लैग मार्च भी हाे रहे हैं।


एमजी राेड पहुंचे सभी अफसर जवानों ने किया मार्च
शहर में सभी पुलिस अधिकारी शुक्रवार की रात सड़क पर उतर गए। अलबर्ट एक्का चौक से लेकर एमजी रोड में जवान मार्च करते रहे। शनिवार सुबह भी जवानों ने यहां फ्लैग मार्च किया। सभी थानेदार भी अपने-अपने इलाकों में सुरक्षा के इंतजाम देखने के लिए निकल पड़े। एसएसपी अनीश गुप्ता, सिटी एसपी, ग्रामीण एसपी, सभी डीएसपी व थाना प्रभारी नजर बनाए हुए हैं। कचहरी स्थित कंट्रोल रूम में अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है और शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है।

 

साेशल मीडिया पर लगातार नजर रखेगी पुलिस

अयाेध्या पर आने वाले फैसले काे लेकर पुलिस और प्रशासन सक्रिय हो गया है। साेशल मीडिया पर पुलिस का विशेष ध्यान है। हर एक वाट्सअप ग्रुप और फेसबुक के पाेस्ट पर पुलिस की नजर है। आपत्तिजनक पाेस्ट करने वालाें पर पुलिस सख्त कार्रवाई होगी। तुरंत जेल भेजा जाएगा। सभी पुलिस पदाधिकारी काे सख्त आदेश है कि कहीं से किसी प्रकार के आपत्तिजनक पाेस्ट की जानकारी मिलती है ताे तुरंत जानकारी लें। ऐसे लाेगाें के खिलाफ कार्रवाई करें। एडमिन पर भी कार्रवाई करें।

 

गश्ती: टाइगर और पीसीआर 24 घंटे करेगी अपने क्षेत्राें में

सभी टाइगर मोबाइल और सभी पीसीआर को 24 घंटे अपने क्षेत्र में गश्त लगाने का निर्देश दिया गया है। रांची एसएसपी अनीश गुप्ता ने सभी थाना प्रभारियों को आदेश दिया है कि वे पीसीआर और टाइगर मोबाइल को जिस क्षेत्र में भी जरूरत हो वहां तुरंत इस्तेमाल करें। इसके अलावा हाईवे पेट्रोलिंग से भी सामंजस्य स्थापित कर सुरक्षा व्यवस्था बहाल करने का निर्देश दिया गया है।

 

अफवाहें फैलाने पर 3-5 साल तक सजा

  • सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान, एक-दूसरे को गाली-गलाैज या अभद्र भाषा इस्तेमाल करने पर आईटी एक्ट की धाराओं में 3 से 5 साल की सजा प्रावधान है
  • साेशल मीडिया पर अपशब्द इस्तेमाल करना गैर जमानती अपराध है
  • जुर्माने का भी प्रावधान है। जो व्यक्ति धर्म, भाषा, नस्ल के आधार पर नफरत फैलाने की कोशिश करते हैं, उन्हें 3 साल तक कैद या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं।

 

लोगों से अपील

ranchi

 

ranchi

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना