विज्ञापन

गुमला / तेली समाज ने कहा- मांग पूरी नहीं तो वोट नहीं, सीएम बोले- धमकी नहीं दें

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 07:14 PM IST


मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों को संबोधित किया। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों को संबोधित किया।
X
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों को संबोधित किया।मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों को संबोधित किया।
  • comment

  • 19वां वार्षिक तेली महाजतरा सह सामूहिक विवाह कार्यक्रम में थे मुख्य अतिथि सीएम
  • कहा-लोकतंत्र में धमकी या दबाव से काम नहीं होता है। इससे हमारी सरकार झुकने वाली नहीं

गुमला. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गुमला के पीएई स्टेडियम में तेली समाज के केंद्रीय अध्यक्ष उदासन नाग द्वारा लोकसभा चुनाव से पूर्व एसटी का दर्जा नहीं देने पर वोट नहीं देने की घोषणा करने के बाद आपत्ति जताते हुए कहा कि धमकी नहीं दें। लोकतंत्र में धमकी या दबाव से काम नहीं होता है। इससे हमारी सरकार झुकने वाली नहीं है। आपकी मांग नई नहीं बल्कि वर्षो पुरानी है। इसे मैं 2004 से जान रहा हूं। लेकिन हर मांग को पूरा करने का प्रकिया होता है। प्रकिया के तहत आपकी मांग को कैबिनेट से पास कराकर भारत सरकार को भेजा जाएगा। जो हक है, वह मिलेगा। किसी का अधिकार नहीं छिना जाएगा। सीएम पीएई स्टेडियम में छोटानागपुरिया तेली उत्थान समाज द्वारा आयोजित 19वां वार्षिक तेली महाजतरा सह सामूहिक विवाह कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

लोकतंत्र की रक्षा के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी: सीएम

  1. उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से सबको अपनी मांग रखने का हक है। जिसे पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। लेकिन वोट नहीं देने की बात कहना लोकतंत्र का अपमान है। लोकतंत्र की रक्षा के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी है। इसलिए आप जागरूक होकर लोकतंत्र को मजबूत करने में अपना योगदान दें। इस दौरान सीएम ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में नवविवाहित वर-वधु को आर्शीवाद देते हुए उनके सुखमय दांपत्य जीवन की कामना की।

  2. धर्म के नाम पर अधर्म करने वाले जाएंगे होटवार जेल

    सीएम ने अपने संबोधन में कहा कि मैं हर धर्म का आदर करता हूं। पर कोई धर्म की आड़ में अधर्म करेगा, तो सरकार इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। संस्कृति-परंपरा हमारी पहचान है। कुछ लोग इसे नष्ट करने में लगे हुए है और दुष्प्रचार भी कर रहे है। ऐसे करने वाले सीधे होटवार जाएंगे। उन्होंने कहा कि झारखंड में विदेशी शक्तियां सक्रिय है, जो हमारी एकता को तोड़ना चाहती है। इसलिए समाज का भी काम है कि वे इस दिशा में काम कर जागरूकता फैलाएं। युग बदल रहा है। रूढ़ीवादी परंपरा को तोड़कर आपसी एकता को बरकरार रखें।

  3. समाज ने सीएम को सौंपा तीन सूत्री मांग पत्र

    कार्यक्रम में मंच के माध्यम से तेली समाज ने तीन सूत्री मांग सीएम के समक्ष रखा और ज्ञापन सौंपा। मांगों में झारखंड के दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के रांची, लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, खूंटी जिला में निवास करने वाले जाति को अनुसूचित जनजाति की सूची में शामिल करने, जब तक तेली जाति को अनुसूचित जनजाति का दर्जा नहीं दिया जाता है। तब तक समाज के सामाजिक, शैक्षणिक व आर्थिक विकास के लिए राज्य सरकार विशेष पैकेज दे एवं रांची, लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, खूंटी जिले में तृतीय व चतुर्थ वर्ग के सरकारी सेवा में पिछड़ी जाति के आरक्षण का अविलंब प्रावधान किया जाए।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन