पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने कहा- जिसने भी मेरे साथ गलत करने की कोशिश की, वो जेल चला गया या मर गया

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोड्‌डा सांसद निशिकांत दुबे ने शनिवार को पत्रकारों से बात की।
  • वैद्यनाथ धाम में पूजा करने से रोके जाने पर सांसद ने कहा- बाबा मंदिर में कैसे पूजा करूं, यह धर्मरक्षिणि सभा बताए
  • शिवरात्रि पर निकास द्वार से प्रवेश करने पर सांसद की धर्मरक्षिणी सभा के महामंत्री से कहासुनी हो गई थी

देवघर. गोड्‌डा सांसद निशिकांत दुबे ने शनिवार को कहा कि उन्हें चौथी बार देवघर स्थित बाबा वैद्यनाथ धाम में अनुष्ठान करने से रोका गया। मैंने पिछले 11 वर्षों में देखा है कि जिसने भी मेरे साथ गलत करने की कोशिश की है, वह जेल चला गया है। उस पर हत्या का आरोप लगा, उसकी असामयिक मौत या दुर्घटना हो गई है।

शिवरात्रि को हुआ था विवाद
शिवरात्रि के दिन सांसद निशिकांत दुबे अपने समर्थकों के साथ निकास द्वार से मंदिर में प्रवेश किया था। पूजा करने के बाद निकलने के क्रम में धर्मरक्षिणी सभा के महामंत्री कार्तिक नाथ ठाकुर से उनकी कहासुनी हुई थी। विरोध में वे धरने पर भी बैठे थे। काफी मान-मनौव्वल के बाद मामला शांत कराया गया था। शिवरात्रि के बाद शनिवार को पहली बार सांसद इस विषय पर बोले।


उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि बाबा नगरी में बहुत से लोग नियमित रूप से बाबा बैद्यनाथ की पूजा करने आते हैं। ऐसे लोगों के लिए जिला प्रशासन एवं पंडा धर्मरक्षिणी सभा द्वारा विशेष पास एवं विशेष समय की मांग उन्होंने की है। शनिवार को वे बाबा मंदिर पूजा करने पहुंचे थे। उन्होंने अपने तीर्थ पुरोहित से संकल्प कराया लेकिन वे बाबा मंदिर के गर्भ गृह में नहीं गए। उन्होंने कहा कि शिवरात्रि के दिन निकास द्वार से प्रवेश करने को लेकर धर्मरक्षिणी सभा के पदाधिकारी द्वारा उनका विरोध किया गया था। उन्होंने संकल्प लिया है कि जब तक सभा एवं प्रशासन के द्वारा उनके लिए पूजा की व्यवस्था नहीं बताई जाएगी, वह अंदर नहीं जाएंगे।

पूर्व सांसद पप्पू यादव भी निकास द्वार से अंदर गए
शनिवार को बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव द्वारा मंदिर के निकास द्वार से प्रवेश करने पर उन्होंने कहा कि उनके सामने पप्पू यादव ने अपने पूरे लाव लश्कर के साथ निकास द्वार से प्रवेश किया। उन्हें रोकने के लिए वहां पर न ही धर्मरक्षिणी सभा का कोई पदाधिकारी था न ही प्रशासन के पदाधिकारी। लेकिन, शिवरात्रि के दिन उनके साथ निकास द्वार से प्रवेश करने पर भारी विरोध जताया गया था। निशिकांत दुबे ने धर्मरक्षिणी सभा के अध्यक्ष एवं प्रशासन से सवाल किया है कि वे किस प्रकार पूजा करें, इसका जवाब उन्हें दें। एक माह के अंदर अगर उन्हें जवाब नहीं मिलता है, तो वे मंदिर ट्रस्ट से अपना इस्तीफा देकर आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें