झारखंड / राजस्व काे ध्यान में रखकर ही वास्तविक बजट का आकार निर्धारित हाे: सुदेश महतो

कार्यालय में विचार-मंथन के दौरान सुदेश महतो व अन्य। कार्यालय में विचार-मंथन के दौरान सुदेश महतो व अन्य।
X
कार्यालय में विचार-मंथन के दौरान सुदेश महतो व अन्य।कार्यालय में विचार-मंथन के दौरान सुदेश महतो व अन्य।

  • झारखंड सरकार के बजट काे लेकर अाजसू पार्टी केंद्रीय कार्यालय में विचार-मंथन

दैनिक भास्कर

Mar 02, 2020, 07:18 PM IST

रांची. आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि राज्य गठन के बाद से आजतक प्रत्येक वित्तीय वर्ष में राज्य विभिन्न स्रोतों के माध्यम से राज्य सरकार जितना राजस्व प्राप्त कर पाती है उसको ध्यान में रखकर ही वास्तविक बजट का आकार निर्धारित किया जाना चाहिए। उन्हाेंने कहा कि राज्य की 71 प्रतिशत आबादी गांव में निवास करती है, जिसमें 61 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है।

71 प्रतिशत आबादी पर कितना खर्च हुआ और उसका क्या परिणाम निकला इसका मूल्यांकन किया जाना चाहिए। क्योंकि गांव मजबूत होगा तभी झारखंड मजबूत होगा। सुदेश महताे शनिवार काे हरमू रांची स्थित पार्टी मुख्यालय में राज्य विधानसभा में तीन मार्च काे पटल पर रखे जानवेवाले बजट के पूर्व विशेषज्ञों, अनुभवियों के साथ बैठकर विस्तार से चर्चा कर रहे थे। 

इस बैठक में मुख्य रुप से तत्कालीन सरकार ने वर्ष 2019-20 के लिए जो बजट निर्धारित किया था, उसका अध्ययन और उसकी वर्तमान स्थिति पर चर्चा की। कहा गया कि राज्य सरकार के माध्यम से यह जाना जाएगा की लक्ष्य के विरोध में राज्य की वर्तमान वास्तविक स्थिति क्या है। बैठक में यह बात भी सामने अाई कि सरकार दिसंबर तक निर्धारित लक्ष्य को पूरा नहीं कर पायी है। विभिन्न स्रोतों से जो निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करना था, वह नहीं हो पाया। सरकार का धन लोकधन है। राजस्व उगाही नहीं होने के पीछे कारण क्या है तथा इसके लिए जिम्मेवार कौन है, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

लोकधन का उपयोग लोक कल्याण और झारखंड की बेहतरी के लिए कैसे हो इसपर पार्टी सरकार को बेहतर सुझाव भी देगी। इस अवसर पर मुख्य रूप से गोमिया के विधायक लम्बोदर महतो, मुख्य केंद्रीय प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत, संजय बसू मल्लिक, जयंत घोष, प्रो विनय भरत उपस्थित थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना