लापरवाही / अपना और डीडीसी का प्रभार कॉन्ट्रैक्ट कर्मी को सौंप छुट्टी पर चले गए डीआरडीए निदेशक

कॉन्ट्रैक्ट कर्मी फणींद्र गुप्ता कॉन्ट्रैक्ट कर्मी फणींद्र गुप्ता
X
कॉन्ट्रैक्ट कर्मी फणींद्र गुप्ताकॉन्ट्रैक्ट कर्मी फणींद्र गुप्ता

  • झारखंड में महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी निभाने में अफसर लापरवाही बरत रहे हैं
  • डीआरडीए निदेशक बोले- व्यवस्था बिना दिक्कत चलती रहे, इसीलिए सौंपा प्रभार

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 04:53 AM IST

चतरा. राज्य में महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी निभाने में अफसर लापरवाही बरत रहे हैं। चतरा जिले में राज्य का पहला ऐसा अनोखा मामला सामने आया है, जिसमें प्रभार देने में अफसर ने कायदे-कानून को ताक पर रख दिया। वह भी उप विकास आयुक्त (डीडीसी) जैसे महत्वपूर्ण पद पर। चतरा के डीडीसी मुरली मनोहर प्रसाद ने छह जनवरी से 11 जनवरी तक छुट्‌टी ली थी।

अवकाश पर जाने से पहले उन्होंने अपना प्रभार डीआरडीए निदेशक अरुण एक्का को सौंप दिया। डीडीसी प्रसाद के छुट्‌टी पर जाने के तीन दिन बाद डीआरडीए निदेशक अरुण एक्का ने 9 जनवरी से तीन दिन की छुट्‌टी ले ली। महत्वपूर्ण बात यह है कि एक्का ने आईएएस रैंक का डीडीसी पद के साथ-साथ डीआरडीए निदेशक के पद का कार्यभार एक कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी फणींद्र गुप्ता को सौंपकर 11 जनवरी तक के लिए छुट्‌टी पर चले गए। कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी को दो अहम विभागों का प्रभार सौंपे जाने से संबंधित पत्र जब डीसी जितेंद्र कुमार सिंह के पास स्वीकृति के लिए पहुंचा तो उनका माथा ठनका। उन्होंने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रभार संबंधी पत्र को रद्द कर दिया। साथ ही एलआरडीसी गौरांग महतो को डीडीसी और डीआरडीए निदेशक का प्रभार सौंप दिया।

कौन है कॉन्ट्रैक्ट कर्मी फणींद्र गुप्ता
फणींद्र गुप्ता डीआरडीए में जिला परियोजना पदाधिकारी के पद पर कॉन्ट्रैक्ट पर कार्यरत हैं। इससे पहले वे डीआरडीए की ही जलछाजन ईकाई में काॅन्ट्रैक्ट पर कार्यरत थे, लेकिन ईकाई के बंद होने के बाद उन्हें जिला परियोजना पदाधिकारी के पद पर पदस्थापित कर दिया गया।

दैनिक कार्यों में दिक्कत न हो, इसलिए सौंपा प्रभार
इस बारे में पूछे जाने पर छुट्‌टी पर गए डीआरडीए निदेशक अरुण एक्का से फोन पर बताया कि उन्हें अचानक जरूरी निजी काम पड़ गया था, इसलिए उन्हें छुट्‌टी पर जाना पड़ा। दैनिक कार्यों में कोई दिक्कत न आए और व्यवस्था सुचारु रूप से चलती रहे, इसलिए उन्होंने डीडीसी समेत अपना प्रभार भी जिला परियोजना पदाधिकारी फणींद्र गुप्ता को सौंप दिया।

पत्र आते ही प्रभार रद्द कर दिया
डीआरडीए निदेशक ने डीडीसी समेत अपना कार्यभार भी जिला परियोजना पदाधिकारी को सौंप दिया था। लेकिन मेरे पास जैसे ही इससे संबंधित पत्र आया, मैंने तत्काल इस मामले को गंभीरता से लेते हुए यह प्रभार रद्द कर दिया। साथ ही कामकाज सुचारु रूप से चलता रहे, इसके लिए एलआरडीसी को इन दोनों अहम पदों का प्रभार सौंप दिया। जितेंद्र कुमार सिंह, डीसी, चतरा

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना