रांची / बकोरिया कांड की सीबीआई जांच में पुलिस के खिलाफ मिले साक्ष्य

Evidence found against police in CBI investigation of Bakoria scandal
X
Evidence found against police in CBI investigation of Bakoria scandal

  • हाईकोर्ट में सीबीआई जल्द ही सौंपेगा फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट
  • नाट्य रूपांतरण से सामने आई घटना की संच्चाई

दैनिक भास्कर

Jan 09, 2020, 07:17 AM IST

रांची (अमित सिंह). पलामू जिला के सतबरवा में 8 जून 2015 को घटित चर्चित बकोरिया कांड की जांच कर रही सीबीआई जल्द ही सच सामने लाने वाली है। सीबीआई और सेंट्रल फॉरेंसिक लैब को जांच के क्रम में कई साक्ष्य पुलिस जांच को गलत ठहराने वाले मिले है। सेंट्रल फॉरेंसिक लैब के डायरेक्टर डॉ. निलेंदु विकास वर्धन के नेतृत्व में सात सदस्यीय जांच टीम ने पूरी घटना का नाट्य रूपांतरण किया था, जिसमें पुलिस द्वारा बताए सभी घटनाक्रम को दुहराया गया था। बकोरिया कांड का नाट्य रूपांतरण सीबीआई जांच टीम के सामने हुआ था। 


इस दौरान कांड से जुड़े पुलिस अफसरों से सीबीआई पूछताछ भी कर रही थी। सीबीआई और एफएसएल टीम को नाट्य रूपांतरण के दौरान ही कई ऐसी बातें सामने आई, जो पुलिस की जांच को गलत ठहराने के लिए काफी है। पुलिस ने अपनी जांच में बताया है कि एक स्कार्पिओ गाड़ी से 12 नक्सली आ रहे थे। जो पुलिस को देखते ही गोलियां चलाने लगे। एफएसएल विंग के सदस्याें ने पाया कि स्कार्पिओ में 12 लोगाें के बैठने के बाद बंदूक से पुलिस पर अंधाधुंध फायरिंग करना संभव नहीं हैं। स्कार्पिओ के अंदर किसी भी सीट पर बंदूक जैसे बड़े हथियार का मूवमेंट संभव नहीं है। 12 लोगों के बैठने के बाद स्कार्पिओ गाड़ी में हाथ-पैर हिलाने में भी परेशानी होगी, ऐसे में अंधाधुंध फायरिंग की बात कही से सही प्रतीत नहीं होती। बकोरियां कांड में मारे गए सभी 12 लोगों को गोली कमर के ऊपर लगी थी।

अब कोबरा के अफसरों व जवानों से होगी पूछताछ
बकाेरिया कांड में सीबीआई अब 209 काेबरा बटालियन के उन अफसराें और जवानाें से पूछताछ करेगी, जाे मुठभेड़ में शामिल थे। सीआईडी ने हाईकाेर्ट में दिए शपथ पत्र में बताया था 209 काेबरा बटालियन काे नक्सली मूवमेंट की जानकारी पहले से थी। और काेबरा बटालियन ने ही पूरा ऑपरेशन प्लान बनाया था। इसमें काेबरा के दाे एसाॅल्ट ग्रुप काे शामिल किया गया था, जिनमें 45 जवान थे। इसके अलावा स्पेशल एक्शन टीम के 16 लाेगाें काे भी शामिल किया गया था। यह एक्शन प्लान आठ जून 2015 की शाम में ही जारी कर दिया गया था और घटना उसी रात हुई थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना