लापरवाही / एक ही चालान पर चार बच्चाें के शवाें काे पाेस्टमाॅर्टम के लिए भेजा, रिम्स ने किया इनकार



आरोपियों ने कुछ इस तरह नुमाइश की थी। आरोपियों ने कुछ इस तरह नुमाइश की थी।
X
आरोपियों ने कुछ इस तरह नुमाइश की थी।आरोपियों ने कुछ इस तरह नुमाइश की थी।

  • जगन्नाथ मेले में मृत बच्चाें की नुमाइश का मामला
  • पुलिस पता नहीं कर पाई कि मृत बच्चे असली हैं या नकली

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 05:21 AM IST

रांची. जगन्नाथपुर मेले में बच्चाें के शवाें की नुमाइश मामले में पुलिस ने एक बार फिर अमानवीय लापरवाही दिखाई। पुलिस ने चाराें शवाें काे पाेस्टमार्टम के लिए रिम्स भेजा। पर इन्हें वस्तु मानते हुए एक ही चालान पर भेज दिया।

 

रिम्स प्रबंधन ने यह कहते हुए पाेस्टमार्टम करने से इनकार कर दिया कि चार अलग-अलग चालान चाहिए। जब तक यह नहीं मिलेगा, आगे की प्रक्रिया नहीं हाे सकती है। इस कारण घटना उजागर हाेने के 48 घंटे बाद शुक्रवार काे भी जांच नहीं हाे सकी कि बच्चाें के शव असली हैं या नहीं।


दरअसल, पुलिस पर कई वस्तुओं काे जांच के लिए लैब भेजती है ताे सभी वस्तुओं का एक ही चालान भेजती है। यहां भी बच्चाें के शवाें काे वस्तु मानते हुए ऐसा ही कर दिया। रिम्स की आपत्ति के बाद पुलिस काे अपनी गलती का अहसास हुआ। अब उम्मीद जताई जा रही है कि शनिवार काे पुलिस अलग-अलग चालान भेजेगी। फिर पाेस्टमार्टम हाेगा। सभी शवाें काे रिम्स में ही रखा गया है। इस मामले में किसी भी पुलिस अधिकारी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।


पुलिस ने दाे दिन पहले जगन्नाथपुर मेले में बच्चाें के शवाें की नुमाइश करने के मामले में तीन लाेगाें काे हिरासत में लिया था। वहां से चार बच्चाें और कुछ जानवराें के शव बरामद हुए थे। उस समय इन तीनाें ने बताया था कि ये बच्चाें के शव नहीं बल्कि रबर के डाॅल हैं। लेेकिन, थाने में पूछताछ के दाैरान इन्हाेंने कबूल लिया कि ये असली बच्चाें के शव हैं। वे काेलकाता में गरीबाें के मृत बच्चाें के शवाें काे खरीदते हैं और मेले में इसकी नुमाइश करते हैं। इसके बाद पुलिस ने फैसला किया कि वह रिम्स में जांच करवाकर पता करेगी कि नुमाइश किए गए बच्चे असली हैं या नहीं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना