पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मनरेगा जेई ने की आत्महत्या, पिता ने कहा- बहू की प्रताड़ना से बेटे ने की आत्महत्या

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रंजीत के साथ पत्नी सोनाली। -फाइल।
  • मृतक की सास सिपाही के पद पर है तैनात, पिता ने कहा- सास भी करती थी प्रताड़ित

गढ़वा. भवनाथपुर प्रखंड में पदस्थापित मनरेगा जेई रंजीत कुमार ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने रंजीत का शव बुधवार की दोपहर किराए के मकान से बरामद किया है। रंजीत हुसैनाबाद के महमदाबाद का रहने वाला था। वह अनिकेत पैलेस के सामने एक किराए के मकान पिछले ढाई वर्षों से रह रहा था। इस संबंध में रंजीत के पिता ने कहा कि बहू की प्रताड़ना की वजह से उनके बेटे ने आत्महत्या की है। उधर, मामले की जानकारी के बाद पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है।


रंजीत के पड़ोसी बिशुनपुरा प्रखंड अंतर्गत पिपरी हाईस्कूल के शिक्षक संतोष कुमार मेहता ने बताया कि रंजीत कुमार होली में ड्यूटी लगने के कारण यहीं थे। उन्हें पिछले शुक्रवार को कैम्पस में घूमते हुये देखा गया था। उन्होंने बताया कि वे रविवार की रात में अपने घर हरिहरगंज से लौटे थे। रात होने के कारण वे अपने रूम में चले गये थे। सोमवार की सुबह उठने पर वे डालटनगंज चले गये थे। 


मंगलवार को स्कूल से लौटने के बाद देखा कि रंजीत के रुम के सामने दो दिनों का पेपर रखा है। दरवाजा बंद है। संतोष ने बताया कि उन्हें शक हुआ इसकी जानकारी मकान मालिक नागेंद्र सिंह को दी। नागेंद्र ने रूम का दरवाजा खटखटाया तो कोई आवाज नहीं मिली। उसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी रंजीत के पिता जगदीश राम को मोबाइल पर दी। बुधवार को करीब 11 बजे जगदीश राम ने आकर दरवाजा खुलाना चाहा लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं मिली। फिर वे खिड़की की ओर पहुंचे, थोड़ा जोर लगाने पर खिड़की खुल गया। अंदर से दुर्गंध आ रही थी। मकान मालिक नागेंद्र सिंह ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।
 

पिता ने कहा- रुपए-पैसे को लेकर रंजीत को प्रताड़ित करती थी सोनाली
सूचना मिलने पर थाना प्रभारी पंकज कुमार तिवारी, राजेश मुंडा ने दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। मजिस्ट्रेट अजय तिर्की की मौजूदगी में रूम का दरवाजा तोड़ा गया। जांच के क्रम में रंजीत कुमार का शव बेड पर सोए अवस्था में पाया गया। मृतक के पिता जगदीश राम ने बताया कि रंजीत की पत्नी सोनाली देवी रुपए-पैसे को लेकर उसे हमेशा प्रताड़ित करते रहती थी। साथ नहीं रहने की धमकी भी देती थी। रंजीत की सास भी पुलिस का रौब दिखाकर रुपए के लिए प्रताड़ित करती थी। जगदीश राम ने बताया कि सोनाली गोवा में फैशन डिजाइनर का कोर्स करना चाहती थी। लेकिन रंजीत उसे पास रखना चाहता था। यहां भी पत्नी को साथ रखा था। लेकिन सोनाली में कोई सुधार नहीं हो रहा था। छह माह पूर्व डालटनगंज में भी पंचायती हुई थी। उन्होंने बताया कि पत्नी की प्रताड़ना के कारण वह शराब का सेवन करने लगा था। 15 मार्च को रंजीत ने अपने बड़े भाई संजय कुमार से बातचीत की थी। घर का हालचाल पूछा था तथा समय निकाल कर घर आने को कहा था।

सोनाली की मां है सिपाही
रंजीत के पिता जगदीश राम ने बताया कि सोनाली की मां सिपाही है। इस कारण वह रंजीत पर दबाव बना कर रखती थी। उन्होंने बताया कि 6 माह पहले बेटे-बहू में झगड़ा होने के बाद सुलह करने को लेकर पंचायत बुलायी गयी थी। उसके बाद दोनों अच्छे ढंग से रह रहे थे। उन्होंने बताया कि 2013 में धुरकी प्रखंड में कनीय अभियंता के रूप में पद स्थापित हुआ था। रंजीत उसके बाद अगस्त 2016 में भवनाथपुर प्रखंड में पदस्थापित हुआ था। उधर, भवनाथपुर के रोजगार सेवक मनोज कुमार ने बताया कि रविवार को रंजीत से बात हुई थी। भवनाथपुर प्रखंड के वीडियो उमेश मंडल ने बताया कि प्रत्येक शुक्रवार और मंगलवार को मीटिंग में रंजीत आता था लेकिन पिछले शुक्रवार को मीटिंग में नहीं आया था न ही मंगलवार को आया।  

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें