• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Godda DC arrives at Sadar Hospital for delivery, gave birth to son from operation; Said If the officers do not go, then how will people trust government hospitals

रांची / गोड्डा डीसी प्रसव के लिए पहुंचीं सदर अस्पताल, ऑपरेशन से दिया बेटे को जन्म; कहा- अफसर भी नहीं जाएंगे तो लोग कैसे भरोसा करेंगे

सुबह 6 बजे डीसी किरण पासी काे प्रसव पीड़ा हाेने के बाद सदर अस्पताल लाया गया। सुबह 6 बजे डीसी किरण पासी काे प्रसव पीड़ा हाेने के बाद सदर अस्पताल लाया गया।
X
सुबह 6 बजे डीसी किरण पासी काे प्रसव पीड़ा हाेने के बाद सदर अस्पताल लाया गया।सुबह 6 बजे डीसी किरण पासी काे प्रसव पीड़ा हाेने के बाद सदर अस्पताल लाया गया।

  • महात्मा गांधी ने कहा था कि खुद में वो बदलाव लाइए, जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं
  • किरण पासी ने गांधी के इन विचारों को अपनाते हुए देश-दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की

दैनिक भास्कर

Mar 02, 2020, 08:58 AM IST

गोड्डा. महात्मा गांधी ने कहा था कि खुद में वो बदलाव लाइए, जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं... गाेड्डा की डीसी किरण पासी ने गांधी के इन विचारों को अपनाते हुए देश-दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की है। जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था में लगातार सुधार के लिए प्रयासरत डीसी ने सरकारी अस्पतालों में लोगों का भरोसा बढ़ाने के लिए वह निर्णय ले लिया, जो उच्च पद पर आसीन विरले अफसर ही लेते हैं। आईएएस अफसरों के लिए मिलने वाली महंगी से महंगी स्वास्थ्य सुविधाओं को छोड़कर उन्होंने गोड्‌डा सदर अस्पताल में रविवार सुबह बेटे को जन्म दिया। सुबह 6 बजे डीसी किरण पासी काे प्रसव पीड़ा हाेने के बाद सदर अस्पताल लाया गया। सुबह 8.30 बजे ऑपरेशन के बाद उन्हाेंने बच्चे काे जन्म दिया। जच्चा-बच्चा दाेनाें स्वस्थ हैं।

दाे डॉक्टराें की देखरेख में उनका इलाज चल रहा है। डीसी ने डिलीवरी के लिए सदर अस्पताल इसलिए चुना, ताकि सरकारी व्यवस्था और डॉक्टराें पर लाेगाें का भराेसा बढ़े और कम खर्च में उनका बेहतर इलाज हाे सके। जिले में पदस्थापन के वक्त से ही डीसी स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था सुधारने की लगातार पहल कर रही हैं। उनके प्रयास से ही गाेड्डा सदर अस्पताल काे सितंबर-2019 में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से कायाकल्प अवार्ड मिला है। 

पति बोले- लगता है अब किसी को प्रसव में परेशानी नहीं होगी
डीसी के पति पुष्पेंद्र सरोज कुमार ने बताया कि किरण शुरू से ही स्वास्थ्य केंद्राें की स्थिति सुधारने का प्रयास कर रही हैं। अब ऐसा लग रहा है कि यहां किसी महिला को प्रसव में कोई परेशानी नहीं होगी। किरण शुरू से ही सदर अस्पताल की डॉ. बनदेवी झा और डॉ. प्रभा रानी के दिशा-निर्देश पर इलाज कराती रहीं। 


सीएस बोले-डीसी के कदम व अवार्ड ने जिम्मेदारी और बढ़ाई
सिविल सर्जन एसपी मिश्रा ने कहा कि उपायुक्त चाहतीं ताे लंबी छुट्टी पर रहकर महंगे अस्पताल में भी इलाज करा सकती थीं। पर उन्हाेंने सरकारी व्यवस्था पर ही भरोसा किया। कायाकल्प अवार्ड मिलने के कारण हमारी जिम्मेदारी और बढ़ गई है। उपायुक्त ने जाे विश्वास जताया है, उसका सकारात्मक संदेश जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना