लोकसभा चुनाव / हजारीबाग में जयंत के सामने कांग्रेस से गाेपाल साहू उतरे



Gopal Sahu landed in front of Jayant in Hazaribagh
X
Gopal Sahu landed in front of Jayant in Hazaribagh

  • भाजपा के जयंत सिन्हा काे देंगे टक्कर 
  • 20 दिनों के मंथन के बाद नाम तय, 18 अप्रैल को नामांकन 

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 08:05 AM IST

रांची. हजारीबाग सीट से भाजपा प्रत्याशी जयंत सिन्हा के खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी का सस्पेंस खत्म हो चुका है। करीब 20 दिनाें के मंथन के बाद कांग्रेस ने गाेपाल साहू काे प्रत्याशी घाेषित किया है। साहू प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अाैर झारखंड वैश्य मोर्चा के मुख्य संरक्षक हैं। वे 18 अप्रैल को नामांकन करेंगे। 


हजारीबाग में 6 मई काे चुनाव हाेना है। चुनाव से 21 दिन पहले गोपाल साहू का नाम तय किया गया। पार्टी के अंदर प्रदीप प्रसाद अाैर गाेपाल साहू के नाम की सबसे अधिक चर्चा थी। गोपाल साहू 2005 मंे रांची विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि, वे जीत नहीं पाए थे। उनके भाई शिव प्रसाद साहू (अब स्वर्गीय) रांची से दाे बार सांसद रह चुके हैं। दूसरे भाई धीरज प्रसाद साहू अभी राज्यसभा सदस्य हैं।

 

उम्मीदवार बनने के बाद गाेपाल साहू ने दैनिक भास्कर से कहा कि सरकार की निरकुंशता से क्षेत्र में जनता नाराज है। एनटीपीसी ने लाेगाें की जमीन ले ली, लेकिन न तो उन्हें बसाया, न नौकरी दी और न मुआवजा दिया। वैश्य की 54 उपजातियां काे एकजुट कर उन्हाेंने माेर्चा बनाया है। इसलिए वैश्य वाेट समेत एसटी-एससी और महताे समुदाय के वाेट मिलेंगे। 


प्रदेश प्रभारी पर भारी पड़े अध्यक्ष 
कांग्रेस की केद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद से हजारीबाग में उम्मीदवाराें के नाम पर चर्चा हाेती रही। अंतत: प्रदीप प्रसाद और गाेपाल साहू के नाम रह गए। इनमें से एक का नाम तय करने में 20 दिन का समय लग गया। पार्टी के अंदर चर्चा है कि प्रदीप प्रसाद काे प्रदेश प्रभारी अारपीएन सिंह पसंद कर रहे थे। दूसरी अाेर, गाेपाल साहू प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. अजय कुमार की पसंद थे। गाेपाल प्रसाद काे हजारीबाग का टिकट मिलने पर प्रदेश प्रभारी पर अध्यक्ष भारी पड़े। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना