रांची / झारखंड में उद्योग के नाम पर आदिवासियों की जमीन लूटना बंद करे सरकार: बाबूलाल मरांडी



सभा को संबोधित करते बाबूलाल मरांडी। सभा को संबोधित करते बाबूलाल मरांडी।
X
सभा को संबोधित करते बाबूलाल मरांडी।सभा को संबोधित करते बाबूलाल मरांडी।

  • सोना खनन के बहाने कृषि योग्य भूमि को बाहरी लोगों का बांटने की हो रही साजिश

Dainik Bhaskar

Sep 28, 2019, 06:23 PM IST

रांची. पूर्व मुख्यमंत्री सह झारखंड विकास मोर्चा के प्रमुख बाबूलाल मरांडी शनिवार को तमाड़ में आदिवासी जन परिषद सह जमीन बचाओ संघर्ष मोर्चा की जनाक्रोश आम सभा को संबोधित किया। आमलेशा फुटबाल मैदान में मरांडी ने रघुवर सरकार को आदिवासी विरोधी बताते हुए कहा कि इनके पांच वर्ष के शासन काल में जमीन लूट की पूरी छूट दी गई। इसी कड़ी के तहत परासी में सोना खनन के बहाने कृषि योग्य भूमि को हथिया कर बाहरी लोगों को बांटने की साजिश है।  

 

हमारे पूर्वजों ने अपनी जान देकर आदिवासियों की जमीन को किया था सुरक्षित
मरांडी ने कहा कि राज्य की जमीनों की सुरक्षा के लिए हमारे पूर्वजों ने अपनी जान की कुर्बानी देकर सीएनटी/एसपीटी एक्ट बनाकर आदिवासियों की जमीन सुरक्षित किया गया था। विकास के नाम पर उक्त कानून का भी खुलेआम उलंघन कर सरकार जनहीत में अधिनियम बनाए बिना जमीन अधिग्रहण की जा रही है। मरांडी ने कहा कि राज्य गठन के बाद उनके नेतृत्व में सरकार बनाने का मौका मिला था। उसे भी सफल होने नहीं दिया गया। जनाक्रोश सभा में मौजूद हजारों जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि आगामी चुनाव में उन्हें सरकार बनाने का मौका मिला तो स्थानीय आदिवासी-मुलवासी को खान, खनन का मालिकाना हक के साथ संसाधन भी मुहैया कराएगी। हमारी पहली प्राथमिकता स्वास्थ्य, शिक्षा, सिंचाई एवं रोजगार के क्षेत्र में स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व उलगुलान के महानायक बिरसा मुंडा के चित्र पर माल्यार्पण किया।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना