वारदात / पीएलएफआई के पूर्व एरिया कमांडर व साथियों पर अपराधियों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, भागकर बचाई जान



इन्ही चारों को मारने पहुंचे थे अपराधी। इन्ही चारों को मारने पहुंचे थे अपराधी।
X
इन्ही चारों को मारने पहुंचे थे अपराधी।इन्ही चारों को मारने पहुंचे थे अपराधी।

  • पूर्व एरिया कमांडर ने कहा- मेरी जान को है खतरा

Dainik Bhaskar

Jul 27, 2019, 05:57 PM IST

गुमला. सदर थाना के पूर्वी क्षेत्र स्थित पूर्वी क्षेत्र के गिन्डरा मोड़ स्थित टोंगरी शनिवार सुबह करीब 7 बजे केसीपारा गांव निवासी पीएलएफआई के पूर्व एरिया कमांडर संजय गोप उर्फ संजय टाइगर समेत उसके साथियों पर जानलेवा हमला किया गया। चारों की हत्या के इरादे से पहुंचे हथियारबंद चार अपराधियों ने उनके ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। मौके से किसी तरह भाग कर चारों ने एक घर में छिपकर अपनी जान बचाई। गोली चलने की आवाज सुनने के बाद आसपास के ग्रामीण इकट्ठा हो गए। उधर, सभी अपराधी सुरक्षित ठिकानों की ओर भाग निकलने में सफल रहे। हमला करने वाले अपराधियों कि पहचान केसीपरा गांव के सीटू साहू, अम्बेरा गांव के नंदू साहू, सुरसुरिया गांव के महावीर साहू व राजन साहू के रूप में की गई है। सूचना के बाद मौके पर पहुँची पुलिस ने चारों अपराधियों के धर पकड़ को लेकर छापामारी अभियान शुरू कर दी है। फिलहाल कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

 

दो सप्ताह पहले ही जेल से छूटकर आया है संजय टाइगर
संजय टाइगर दो सप्ताह पूर्व ही जेल से जमानत पर निकल कर बाहर आया है। शनिवार को संजय अपने साथियों के साथ गिन्डरा मोड़ स्थित टोंगरी में पत्थर तुड़वाने का काम कर रहा था। तभी चार अपराधी मुंह पर कपड़ा बांधकर पैदल टोंगरी की ओर बढ़े। अपराधी जैसे ही टोंगरी के समीप पहुंचने ही वाले थे कि संजय टाइगर ने उन्हें आवाज देकर पूछा कि कौन हो और कपड़ा क्यों ढंके हो। यह आवाज सुनते ही चारों अपराधी मुंह से कपड़ा हटाते हुए हथियार से संजय व उसके साथियों गिन्डरा गांव निवासी करमा गोप, केसीपरा गांव निवासी संजू गोप व अमित गोप के पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोली चलते ही संजय व उसके तीनों साथी भागने लगे और भागकर एक घर के अंदर में छुप कर अपनी जान बचाई। इस दौरान अपराधियों ने गोली चलाते हुए कुछ दूर उनका पीछा भी किया। इधर, मुंह से कपड़ा हटाते ही संजय ने चारों अपराधियों को पहचान लिया। उसने सभी अपराधियों के नाम बताए। साथ ही घर में छिपकर ही घटना की सूचना अपने परिजनों, ग्रामीणों व पुलिस को दी। सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण भागकर टोंगरी की ओर पहुंचे। मगर ग्रामीणों को आते देख चारों अपराधी एक बाइक पर सवार होकर भाग निकले। सूचना पाकर पहुंचे डीएसपी नागेश्वर सिंह व थाना प्रभारी शंकर ठाकुर ने घटना की विस्तृत जानकारी ली। साथ ही अपनी कार्रवाई में जुट गई।

 

अपराधी पूर्व के इतिहास को सामने रखकर वर्चस्व कायम करना चाहता है
घटना के कारणों के पीछे कई तथ्य सामने आ रहे हैं। हमला करने वाले अपराधियों में शामिल सीटू साहू का भी पूर्व से ही पीएलएफआई से जुड़ाव रहा है। वह संजय टाइगर के साथ भी रहकर संगठन के लिए काम कर चुका है। संजय के जेल से निकलने के बाद वह इलाके में पूर्व के इतिहास को सामने रखकर वर्चस्व कायम करना चाहता है। जबकि सीटू भी यही चाहता है। संभावना है कि इसी कारण सीटू संजय को रास्ते से हटाना चाहता है। पूर्व में में सीटू द्वारा संजय के ऊपर हमला करने की कई योजना बनाई जा चुकी है। मगर संजय के सतर्कता के कारण वह इसमें सफल नही हो सका है। हमले के पीछे हाल में हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। चूंकि दुष्कर्म की इस घटना में सीटू साहू के ऊपर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। सीटू का मानना है कि दुष्कर्म की घटना में उसके ऊपर संजय के इशारे में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

 

संजय ने कहा- मेरी जान को खतरा
संजय टाइगर ने कहा कि समाज की मुख्य धारा में रहकर जीवन जीने का कोशिश कर रहा हूं। हमले की सूचना फौरन पुलिस को दी गई। मगर पुलिस घंटों बाद पहुंची। समय पर पुलिस आती तो शायद सभी हमलावर पकड़े जाते। संजय ने कहा कि उसकी जान को खतरा है। सीटू उसकी हत्या के बाद ही जेल जाने की धमकी देता फिर रहा है।

 

अपराधियाें को अविलंब गिरफ्तार किया जाएगा: डीएसपी
डीएसपी ने ग्रामीणों से कहा कि कानून को हाथ में लेने की किसी को इजाजत नहीं है। अपराध करने वालों पर कानूनी तरीके से कार्रवाई की जाएगी। इलाके में शांति बहाल रखे घटना में शामिल सभी अपराधियाें को अविलंब गिरफ्तार किया जाएगा।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना