सफलता / पीएलएफआई के पूर्व उग्रवादी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, कारतूस व लूट की बाइक बरामद



पुलिस हिरासत में पकड़ा गया पीएलएफआई का पूर्व उग्रवादी। पुलिस हिरासत में पकड़ा गया पीएलएफआई का पूर्व उग्रवादी।
X
पुलिस हिरासत में पकड़ा गया पीएलएफआई का पूर्व उग्रवादी।पुलिस हिरासत में पकड़ा गया पीएलएफआई का पूर्व उग्रवादी।

  • आधा दर्जन लोगों के साथ बनाया था अलग गिरोह, मंगल नगेशिया के साथ भी करता था काम

Dainik Bhaskar

Oct 03, 2019, 07:08 PM IST

गुमला. आधा दर्जन से अधिक गुर्गे को जोड़कर अपना गिरोह संचालित कर रायडीह क्षेत्र में उत्पात मचा रहा पीएलएफआई का पूर्व उग्रवादी घुरन उरांव को पुलिस ने पकड़ लिया है। उसकी गिरफ्तारी के साथ ही रायडीह क्षेत्र में हालिया दिनों में घटित कई कांडों के उदभेदन के साथ ही उसके गिरोह के सदस्यों के नामों का खुलासा हो गया है। जिसके बाद गिरोह का सफाया करने के उद्देश्य से रायडीह पुलिस ने अपना प्रयास तेज कर दिया है। गुरूवार को घुरन की गिरफ्तारी को सार्वजनिक करते हुए रायडीह थाना में प्रेस वार्ता आयोजित की गई जिसमें इस संबंध में जानकारी दी गई।

 

जून में जेल से बाहर आने के बाद बनाया गिरोह
थाना प्रभारी रविंद्र शर्मा ने बताया कि घुरन शुरूआती समय में मंगल नगेशिया के गिरोह में था। इसके बाद पीएलएफआई में शामिल हो गया था। पुलिस से पकड़ाने के बाद वह जेल में था। इधर, जून माह में जेल से छूटने के बाद आधा दर्जन से अधिक युवकों को जोड़कर संगठन चला रहा था और लूटपाट, रंगदारी व हत्या जैसी घटनाओं को अंजाम दे दबदबा कायम करने में जुटा हुआ था। लेकिन गुप्त सूचना पर झटनीटोली जंगल से उसे दबोचा गया। हालांकि उसके साथी भाग निकलने में कामयाब रहे। लेकिन जल्द ही उन्हें भी पकड़ लिया जाएगा। थाना प्रभारी ने कहा कि घुरन को पकड़ने में थाना प्रभारी, पुअनि दशरथ दास व सशस्त्र बल के जवानों की भूमिका है। 

 

पुलिस को चकमा दे भागने में सफल हुए घुरन के साथी
थाना प्रभारी ने बताया कि एसपी को सूचना मिली थी कि किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए कुछ अपराधकर्मी झटनीटोली जंगल में जमा है। इस सूचना पर चैनपुर एसडीपीओ के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम सूचना के सत्यापन व आवश्यक कार्रवाई के लिए जंगल में छापामारी की। इस क्रम में छह लोगों को संदिग्ध अवस्था में देखा गया। पुलिस को देखते ही सभी इधर-उधर भागने लगे। पुलिस ने खदेड़ कर एक को पकड़ा। बाकी पुलिस को चकमा देकर भाग निकलने में सफल रहे। पुछताछ के क्रम में उसने अपना नाम घुरन उरांव पता लौकी रायडीह बताया। तलाशी के क्रम में उसके पास से एक लोडेड देशी कट्टा व एक गोली बरामद की है। उसकी निशानदेही पर लूट की विक्टर व पैशन प्रो बाइक भी बरामद हुई है। घुरन ने अपने साथियों का नाम बताया है। जिसके बाद आगे की कार्रवाई चल रही है।

 

लूटपाट के बाद 24 सितंबर को फेरी वाले की हत्या की थी
थाना प्रभारी ने बताया कि गत 24 सितंबर को फेरी वाले से लूटपाट व उसकी हत्या घुरन व उसके साथियों ने की थी। इसके साथ ही घुरन पर रायडीह थाना में पांच मामले दर्ज है। इनमें वर्ष 2012 में घुरन ने पीएलएफअाई में रहते हुए जानवर व्यापारियों से रंगदारी की वसूली की गई थी। जिसके बाद उसे पकड़कर जेल भेजा गया था। इसके अलावे शिक्षक ललन टोप्पो से लेवी मांगने व नहीं देने पर जान मारने की धमकी देने, हथियार व गोली के साथ गिरफ्तार होने, फेरी वाले की बाइक चुराने और गत 24 सितंबर को फेरी वाले से लूटपाट व हत्या करने का मामला दर्ज है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना