कार्रवाई / हथियार के साथ दो ड्रग्स कारोबारी गिरफ्तार, चोरी के तीन वाहन भी बरामद



पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी। पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी।
X
पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी।पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी।

  • भारी मात्रा में कोरैक्स, नशे के टेबलेट्स व हथियार बरामद
  • दवा दुकान व सेवा सदन की आड़ में लॉज में रह चलाते थे अवैध कारोबार

Dainik Bhaskar

Jan 11, 2019, 07:03 PM IST

हजारीबाग. हजारीबाग सदर पुलिस ने वाहन चोर सह ड्रग्स कारोबार चलाने वाले दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से चोरी की बाइक, भारी मात्रा में ड्रग्स और हथियार भी बरामद हुआ है। अवैध कारोबार के संचालन के लिए दोनों ने दवा दुकान और सेवा सदन का सहारा लिया था। ड्रग्स आपूर्ति के लिए चोरी की बाइक का उपयोग करते थे।

स्कूल छात्रों एवं टीन एजर्स को बनाते थे शिकार

  1. आरोपी स्कूली छात्र व टीन एजर्स लडक़ों को शिकार बनाते थे। पहले उन्हें नशे की लत लगाते थे फिर उनका उपयोग ग्राहक बढाने में करते थे। अपराधियों के द्वारा संचालित दवा दुकान और सेवा सदन को सील करने के लिए ड्रग्स विभाग को पुलिस ने लिखा है जिसमें दोनों संस्थान को तत्काल सील करने के लिए कहा गया है। गिरफ्तार अपराधियों में एक अपराधी हेड पोस्ट ऑफिस के पास ओम प्रकाश मेहता उर्फ निराला लॉज में रह कर अपराध कर रहा था। तत्काल लॉज को खाली करा दिया गया है। इसे भी सील किया जाएगा। यह जानकारी सदर एसडीपीओ मंगल सिंह जामूदा ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता में दी। उन्होंने कहा कि अभी इस रैकेट के खिलाफ व्यापक जांच जारी है। इस कारोबार के तह तक पुलिस जाएगी ताकि नाबालिग बच्चों के जीवन से खिलवाड़ करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके। 

  2. बिहार व हजारीबाग के निवासी हैं गिरफ्तार आरोपी

    गिरफ्तार आरोपी सौरभ कुमार सानू बिहार के नवादा जिला अंर्तगत रजौली जबकि बादल कुमार राव हजारीबाग जूलू पार्क रोड मराठी कालोनी का निवासी है। दोनों के पास से देशी पिस्टल एक, दो जिन्दा कारतूस, एक मैग्जीन, एक चाकू, सौ एमएल के कोडिसेम, विकोरैक्स, आरसी कफ सिरफ व फेन्सिरेल सिरफ की 406 बोतल, निट्रोसम टेबलेट 3600, दो स्कूटी एवं एक ग्लैमर मोटरसाइकिल बरामद किया गया है।

  3. 10 जनवरी को किया गया था गिरफ्तार

    एसडीपीओ ने बताया कि दोनों को जुलू पार्क रोड से 10 जनवरी की रात उस वक्त गिरफ्तार किया गया था जब ये दोनों आपस में लड़ रहे थे। सूचना के बाद सदर थाना प्रभारी नीरज सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे थे जहां बादल के पास से पिस्टल, एक कारतूस, चाकू और सौरभ के पास से एक कारतूस बरामद किया गया। जब दोनों को गिरफ्तार कर थाना लाया और उनसे पूछताछ हुई तो कोरैक्स कारोबार की पोल खुली थी। इसके बाद एक टीम गठित की गई थी जिसका नेतृत्व प्रशिक्षु आईपीएस राकेश रंजन कर रहे थे। 

COMMENT