झारखंड / हमारी बेटियां... इन्हें अपनी जान की नहीं, किताबों को भीगने से बचाने की चिंता ज्यादा है



नदी पार कर स्कूल जाते बच्चे। नदी पार कर स्कूल जाते बच्चे।
X
नदी पार कर स्कूल जाते बच्चे।नदी पार कर स्कूल जाते बच्चे।

  • अभिभावकों ने कहा- डर लगता है लेकिन उनके भविष्य को देख स्कूल भेजना मजबूरी

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 11:23 AM IST

हजारीबाग. ये तस्वीर बड़कागांव प्रखंड के पचंडा गांव की है। यहां के बच्चों को पांच किलोमीटर दूर अपने स्कूल जाने के लिए पचंडा नदी को पार करना पड़ता है, क्योंकि इस नदी पर पुल नहीं बना है। गर्मी और ठंड के दिनों में तो कोई खास परेशानी नहीं होती, पर बरसात में नदी में बाढ़ आ जाने के दौरान वे कई दिनों तक स्कूल ही नहीं जा पाते। 

 

नदी पार कर स्कूल जाते हैं बच्चे
इस दौरान बारिश नहीं होने पर बच्चे किसी तरह नदी पार कर स्कूल जाते हैं। इस दौरान उन्हें अपनी जान से ज्यादा चिंता किताबों को भीगने से बचाने की होती है। उनके अभिभावक भी बच्चों की चिंता में डरे-सहमें रहते हैं, पर उनके भविष्य को देखते हुए स्कूल भेजना मजबूरी है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना