सुनवाई / पत्नी की निर्मम हत्या करने के मामले में पति दोषी करार, गला काटकर किया था मर्डर



विनोद पाठक। (फाइल फोटो) विनोद पाठक। (फाइल फोटो)
X
विनोद पाठक। (फाइल फोटो)विनोद पाठक। (फाइल फोटो)

  • 29 जनवरी को दीवान से मिली थी लाश, 29 मार्च को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनाई जाएगी सजा

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 07:44 PM IST

हजारीबाग. हजारीबाग का चर्चित व दिल दहला देने वाली अनु पाठक हत्या कांड की सुनवाई शनिवार को हुई। इस कांड के मुख्य आरोपी सीएमपीडीआई कर्मी विनोद पाठक को कोर्ट ने दोषी करार दिया है। 29 जनवरी 2018 को यह घटना घटी थी। अनु पाठक की निर्मम हत्या करने के आरोपी पति सीएमपीडीआई कर्मी सह भारत स्वाभीमान ट्रस्ट के जिला अध्यक्ष विनोद पाठक को जिला एवं सत्र न्यायाधीश वन रमेश कुमार की अदालत ने दोषी माना है। अदालत ने सजा को सुरक्षित रखा है। 29 मार्च को अदालत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सजा सुनाएगी। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना