झारखंड / कोरोनावायरस को लेकर हेमंत सोरेन की अपील, कहा- खुद की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें, हर तरह की एहतियात भी बरतें

हेमंत सोरेन। (फाइल फोटो) हेमंत सोरेन। (फाइल फोटो)
X
हेमंत सोरेन। (फाइल फोटो)हेमंत सोरेन। (फाइल फोटो)

  • बाबूलाल मरांडी ने कहा- कोरोना देश के लिए सबसे बड़ी मेडिकल इमरजेंसी, कई देश इसके चपेट में
  • कोरोना प्रभावित देशों से झारखंड अाए 146 यात्रियों पर स्वास्थ्य विभाग की है नजर
  • रिम्स से बुधवार को भेजे गए 4 में से तीन की रिपोर्ट निगेटिव, 1 का अानी बाकी
  • रिम्स सहित 5 मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल में बने हैं 102 आइसोलेशन बेड 

दैनिक भास्कर

Mar 06, 2020, 10:27 AM IST

रांची. कोरोनावायरस को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपील की है। उन्होंने ट्विटर के जरिए कहा कि जनता से अपील है कि कोरोनावायरस को लेकर किसी भी तरह के अफवाह या गलत समाचार पर ध्यान न दें। स्वास्थ्य विभाग राज्य में कोरोनावायरस की रोकथान के लिए सभी जरुरी कदम उठा रहा है। उधर, भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने भी कोरोनावायरस को लेकर कहा कि झारखंड सरकार को तत्काल सतर्क होने की जरुरत है। देरी हुई तो इसे समेटना मुश्किल होगा।

क्या कहा हेमंत सोरेन ने...

मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि कोरोना वायरस आपदा जैसी है, इससे कैसे निजात पाया जाए। सरकार इस विषय को लेकर चिंतित है। यह अधिक से अधिक न फैले इसपर सरकार कार्य कर रही है। मैं राज्यवासियों से अपील करता हूं कि वे खुद की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। हर तरह का एहतियात राज्य के लोग बरतें। जहां तक उल्लास से भरे रंगों के त्योहार होली की बात है, तो अब ये भी राज्यवासियों को तय करना है कि वे होली का सत्कार कैसे करेंगे। लोग शुभकामनाएं लेंगे और देंगे। लेकिन उसका तरीका क्या हो। यह लोग ही तय करें। बस इस वायरस से बचने के उपायों पर ध्यान केंद्रित कर हमें कार्य करना है। इससे बचने के लिए अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले खेल के आयोजनों को भी स्थगित करने की सूचना आ रही है, जो इशारा करता है कि सतर्कता भी बचाव माध्यम हो सकता है।
 

बाबूलाल मरांडी ने भी ट्वीट कर कहा कि चीन में महामारी का रूप ले चुका कोरोना अब भारत में, कई देश इसकी भयवाहता के चपेट में हैं। कोरोना देश के लिए सबसे बड़ी मेडिकल इमरजेंसी है। झारखंड सरकार को तत्काल सतर्क होने की जरूरत है। इसके लिए सरकार मेडिकल टास्क फोर्स बना कर अभी से काम शुरू कर दे। देरी हुई.. तो इसे समेटना मुशिकल होगा।

बुधवार को भेजे गए चार सैंपल में से तीन की रिपोर्ट निगेटिव

बुधवार को रिम्स में भर्ती चार संदिग्ध मरीजों के जांच के सैंपल के रिपोर्ट आ गए हैं। इनमें से रांची के दंपती और पलामू के मरीज का रिपोर्ट निगेटिव आया है। जबकि धनबाद निरसा के मरीज का रिपोर्ट आना बाकी है। उधऱ, चीन अौर अन्य कोरोना प्रभावित अन्य देशों से झारखंड अाए में 146 यात्रियों की सतत निगरानी स्वास्थ्य विभाग के एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) के तहत की जा रही है। इन यात्रियों की सूची गृह मंत्रालय की अोर से राज्य सरकार को भेजी गई है। स्वास्थ्य विभाग इन यात्रियों की सतत निगरानी के तहत 28 दिनों तक अपने घर में पृथक देखभाल में रखा गया है। जिलों में इन यात्रियों की निगरानी जिला सर्विलांस इकाई कर रही है। भारत सरकार के गृह मंत्रालय से प्राप्त यात्रियों की सूची के अनुसार चीन से 81 पैसेंजर (रांची-8, जमशेदपुर-21, गढ़वा-9, सरायकेला-16, गिरिडीह-2, पश्चिम सिंहभूम-1, बोकारो-8, पाकुड़- 1, गोड्डा-5, हजारीबाग-2, पलामू-1, जामताड़ा-1, चतरा-1, देवघर-1, लातेहार-1 एवं रामगढ़-3) झारखंड पहुंचे हैं। 

इसी तरह 25 फरवरी से अभी तक अन्य देशों कोरिया, मलेशिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया, वियतनाम, नेपाल, ईरान, जापान, इटली, हांगकांग, सिंगापुर के कुल 65 यात्री (बोकारो-12, पूर्वी सिंहभूम-9, गोड्डा-1, हजारीबाग-1, रांची 27, धनबाद- 4, पलामू-5, पश्चिमी सिंह-1, सरायकेला-2, खूंटी-1, गिरिडीह-1, देवघर-1) झारखंड अाए हैं। आईडीएसपी प्रभारी डॉ. राकेश दयाल ने बताया कि राज्य में कोई व्यक्ति ग्रसित नहीं पाया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना