पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

खुद हैं शाकाहारी, लेकिन समय मिलते ही दोस्तों के लिए शौक से नॉनवेज बनाते हैं झारखंड के नए मुख्यमंत्री

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हेमंत सोरेन। तस्वीर 23 दिसंबर की जब महागठबंधन को पूर्ण बहुमत मिला था।
  • झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में हेमंत सोरेन ने शनिवार को ली पद एवं गोपनियता की शपथ, दूसरी बार बने सीएम

रांची. एक क्रिएटिव आर्टिस्ट की तरह वह ड्रॉइंग शीट पर पेंसिल से सामने बैठे किसी भी शख्स का स्कैच मिनटों में बना लेते हैं। अपने जूते खुद साफ करना, अपनी कार को खुद धोना और साफ करने लगते हैं। बात हो रही है झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हेमंत सोरेन की। हेमंत के बारे में कहा जाता है कि वे शुद्ध शाकाहारी हैं लेकिन समय मिलते ही वे अपने दोस्तों के लिए काफी शौक से नॉनवेज बनाते हैं।

नेता प्रतिपक्ष रहते हेलमेट लगाकर बाइक से अकेले सड़कों पर निकल जाते थे हेमंत
हेमंत झारखंड के सबसे बड़े राजनैतिक परिवार से ताल्लुक रखते हैं। हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री जैसे पदों पर रह चुके हैं। हेमंत सोरेन इससे पहले 17 महीने तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भी दुमका और बरहेट दोनों ही सीटों से वह विजेता रहे हैं। 2014 में मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद हेमंत सोरेन लगातार पांच साल तक झारखंड विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रहे। प्रतिपक्ष का नेता रहते हुए भी हेमंत सोरेन हेलमेट लगाकर बाईक चलाकर रांची में घूमने निकल जाते थे। इस दौरान उन्हें कोई पहचान भी नहीं पाता था।

चुनाव नतीजों के दिन वायरल हुई थी हेमंत से शख्सियत को बयां करने वाली वीडियो और फोटोज
23 दिसंबर को चुनाव के नतीजों के दिन जैसे ही महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत की तस्वीरें साफ होने लगी, हेमंत के शख्सियत की एक अलग तस्वीर टीवी और सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। चुनाव नतीजों के बाद वे शांत तरीके से सबसे पहले अपने पिता के आवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने माता-पिता से आशीर्वाद लिया और फिर बच्चों के साथ काफी समय बिताया। इस दौरान उन्होंने कभी बच्चों को बिठाकर तो कभी अकेले साइकिल चलाई। जब परिवार को पूरा समय दे दिया तो देर शाम वे पार्टी कार्यकर्ताओं और मीडिया के बीच पहुंचे।

बड़े राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद आम युवाओं की तरह रहता है पहनावा
हेमंत का पहनावा भी सामान्य युवाओं की तरह है वह कभी जींस और खादी का कुर्ता, जींस टी शर्ट या कुर्ता पायजामा, पहनते हैं। हेमंत संयुक्त परिवार के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी कल्पना सोरेन रांची में ही एक निजी स्कूल चलाती हैं। उनके दो बेटे निखिल और अंश हैं। हेमंत को अपने परिवार को समय देना, बच्चों के साथ खेलने-कूदने में भी आनंद आता है। हेमंत सोरेन की प्रारंभिक शिक्षा बोकारो में हुई। हेमंत की कभी भी पढ़ने लिखने में विशेष रुचि नहीं थी, लेकिन मां रूपी सोरेन चाहती थी कि बेटा पढ़-लिखकर इंजीनियर बने। 1990 में पटना के एमजी हाईस्कूल से 10वीं की परीक्षा पास की। 1994 में पटना से इंटरमीडिएट पास किया। हेमंत ने 12वीं के बाद इंजीनियरिंग के लिए रांची के बीआईटी मेसरा में प्रवेश लिया लेकिन पढ़ाई में मन नहीं लगता था। उन्हें पिता से विरासत में सियासत ही मिली है।

बीच में पढ़ाई छोड़ 2003 में छात्र राजनीति से जुड़े
मन न लगने के बाद हेमंत ने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी और 2003 में ही छात्र मोर्चा की राजनीति में जुट गए थे। 2009 में भाई दुर्गा सोरेन जो एक कद्दावर नेता थे उनकी मृत्यु के बाद हेमंत को शौकिया राजनीति छोड़कर गंभीर राजनीति में आना पड़ा, क्योंकि पिता की तबीयत निरंतर बिगड़ रही थी। हेमंत सोरेन की भाभी (दिवंगत दुर्गा सोरेन की पत्नी) सीता सोरेन भी विधायक हैं। हेमंत की एक बहन अंजलि हैं जिनकी शादी हो चुकी है और एक छोटा भाई बसंत सोरेन हैं, जो राजनीति में ही हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें