इनकम टैक्स / कहां से आए 22 लाख रुपए, नहीं बता सके हजारीबाग से महागठबंधन प्रत्याशी गोपाल साहू

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 10:40 AM IST


गोपाल साहू। (फाइल फोटो) गोपाल साहू। (फाइल फोटो)
X
गोपाल साहू। (फाइल फोटो)गोपाल साहू। (फाइल फोटो)

  • लोकसभा चुनाव के दौरान 18 मामलों में 2 करोड़ 49 लाख हुए सीज 
  • सोर्स नहीं बताने पर पॉलिटिकल सीजर के तहत दर्ज होगा मामला 

रांची. हजारीबाग लोकसभा उम्मीदवार गोपाल प्रसाद साहू पर इनकम टैक्स कार्रवाई करेगी। गोपाल प्रसाद साहू इनकम टैक्स को नहीं बता पाए कि हजारीबाग में जब्त 22 लाख रुपए कहां से आए थे। उसका स्रोत क्या था। कांग्रेस के कैंप ऑफिस होटल एके इंटरनेशनल में डीडीसी व इनकम टैक्स का संयुक्त छापेमारी हुई थी। जिसमें दो अलग-अलग कमरों से 21 लाख 91 हजार 900 रुपए नगद और कई अन्य सामग्री 28 अप्रैल की रात बरामद हुए थे। शुक्रवार को प्रधान आयकर आयुक्त, रांची आरएन सहाय ने संवाददाताओं को बताया कि बरामदगी के बाद कांग्रेस उम्मीदवार से पूछा गया था कि राशि कहां से आई। वे अबतक नहीं बता सके है। पॉलिटिकल सीजर के तहत मामला दर्ज होगा। 

लोकसभा चुनाव के दौरान 18 मामलों में करीब 2 करोड़ 49 लाख रुपए सीज

  1. आरएन सहाय ने बताया कि लोकसभा चुनाव के दौरान कुल 18 मामलों में करीब 2 करोड़ 49 लाख रुपए सीज हुए। इसमें जांच चल रही हैं। अबतक पॉलिटिकल सीजर में मात्र एक मामला हजारीबाग में सीज 22 लाख रुपए का है। अन्य जो भी राशि सीज हुई है, सभी अराजनैतिक है। राशि रांची, जमशेदपुर, धनबाद, हजारीबाग, गिरिडीह व देवघर जिले से सीज हुई है। आयकर भवन में आयोजित प्रेस सम्मेलन को संयुक्त आयकर आयुक्त मनीष झा, आयकर संयुक्त निदेशक अन्वेषण रांची एके मोहंती, संयुक्त आयकर आयुक्त रांची निशा उरांव सिंहमार, संयुक्त आयकर आयुक्त रांची चिन्मया ए मराठे आदि उपस्थित थे। 

  2. रांची में टारगेट से ज्यादा लोगों ने आयकर का भुगतान किया

    प्रधान आयकर आयुक्त, रांची ने बताया कि झारखंड में करदाताओं की संख्या बढ़ी हैं। रांची में 55 हजार 750 टारगेट निर्धारित किया गया था, उससे ज्यादा 65 हजार 291 लोगों ने आयकर का भुगतान किया। उन्होंने रांची के करदाताओं की प्रशंसा की जिन्होंने ईमानदारी से अपना कर का भुगतान करते हुए राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग प्रदान किया है। जिन्होंने अनैतिक रूप से पैसे बैंक में जमा किए, उसकी जानकारी विभाग को नहीं दी, उनके विरुद्ध अभी तक वित्तीय वर्ष 2018-19 में 86 मामलों में अभियोजन दायर किया जा चुका है। 

  3. नए करदाता बनाने में झारखंड-बिहार दूसरे स्थान पर

    वित्तीय वर्ष 2018-19 में झारखंड में नए करदाता बनाने के लिए निर्धारित लक्ष्य 2,10,790 है, अभी तक 1,90,450 नए आयकरदाता जुड़े हंै, जो लक्ष्य का 90.33 प्रतिशत है। पूरे देश में नए करदाताओं की संख्या बढ़ाने में झारखंड व बिहार दूसरे स्थान पर हैं। वित्तीय वर्ष 2015-16, 2016-17 एवं 2017-18 में नए करदाताओं की संख्या जहां क्रमश:54961, 235231, 177038 थी। 

  4. 31 मई तक विशेष पखवाड़ा का आयोजन

    इस वित्तीय वर्ष में अभी तक झारखंड में कुल 175 सर्वे हुए है, 100.84 करोड़ अघोषित आय का आकलन भी किया गया है, जिसमें से 7.73 करोड़ का कर भुगतान हो चुका हैं। करदाताओं को जागरूक करने के लिए व्यापक कार्यक्रम आयोजित होंगे। रांची में अपील प्रभाव और सुधार के दावों में शीघ्र निपटान के लिए 16 मई से 31 मई 2019 तक एक विशेष पखवाड़ा का आयोजित किया गया है। 

COMMENT