पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंडिया-चाइना तय कर सकते हैं बिजनेस पॉलिसी: डॉ. सांग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रांची| चीन के कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ सांग जुगुओ ने कहा चीन के व्यापार का मुख्य आधार कृषि ही है। चीन के निर्यात बाजार का मुख्य आधार भी यही है। उन्होंने कहा कि इंडिया और चाइना दोनों कृषि आधारित देश हैं। अगर दोनों देश एक साथ सहयोगात्मक कदम के साथ चलें, तो यह एक की सेक्टर के रूप में विकसित हो सकता है। दोनों देश मिलकर इसे आगे ले जा सकते हैं। उक्त बातें जुगुओ ने ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट के दौरान आयोजित एक सेमिनार के दौरान कही। जहाओ एक्सलोई ने कहा कि पीयर चाइना के एक्सपोर्ट किए जाने वाला प्रमुख फल है। इसकी कई वेराइटी है। मगर इंडिया में सू पीयर अधिक एक्सपोर्ट किए जाते हैं। इसकी कई वेराइटी अमेरिका, कनाडा, आस्ट्रेलिया, मैक्सिको, यूरोप, श्रीलंका एवं मिडिल ईस्ट में भी एक्सपोर्ट की जाती है। पन डेहायू ने कहा कि चाइना एपल का बड़ा उत्पादक देश है। मगर इसका केवल 3% ही एक्सपोर्ट किया जाता है। उन्होंने इंडिया को इसकी पैकेजिंग व उत्पादन के तरीके को जानने के लिए आमंत्रित किया।

खबरें और भी हैं...