Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Ips Rakesh Bansal Wife Meghna Bansal Fb Post

इस IPS की पत्नी ने FB पर बयां किया अपना दर्द, लिखा- हमारे साथ हुआ धोखा, फिर पति ने दिया ये जबाव

मेघना ने लिखा: 10 सालों में झारखंड में कुछ नहीं मिला, सिस्टम के पक्षपातपूर्ण फैसले और भाई-भतीजावाद का शिकार होना पडा।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 27, 2018, 01:51 AM IST

  • इस IPS की पत्नी ने FB पर बयां किया अपना दर्द, लिखा- हमारे साथ हुआ धोखा, फिर पति ने दिया ये जबाव
    +1और स्लाइड देखें
    ips राकेश बंसल और उनकी पत्नी मेघना बंसल

    रांची.झारखंड कैडर के आईपीएस अफसर राकेश बंसल लगातार 10 साल झारखंड में रहने के बाद पांच साल के लिए केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर चले गए हैं। झारखंड से जाते-जाते उनकी पत्नी मेघना बंसल ने राज्य के सिस्टम पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा-राज्य के सिस्टम ने हमारे साथ पक्षपात किया है। विश्वासघात भी हुआ। उन्होंने झारखंड में अपने 10 साल के अनुभवों को इशारों में लिखा है। इस पोस्ट के बाद सवाल उठने लगा है कि क्या हमारा सिस्टम आईपीएस की पत्नी के फेसबुक पोस्ट जैसा ही खराब है। मेघना के इस पोस्ट पर मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव संजय कुमार ने लिखा कि पोस्ट पढ़कर मुझे दुख हुआ है। इसकी भरपाई जल्दी हो जाएगी।

    झारखंड को नहीं बदल सके, झारखंड ने हमें बदल दिया

    मेघना ने अंग्रेजी में पोस्ट किया है। लिखा है-झारखंड के लिए हमारा सफर कई सपने, दृढ़ निश्चय और उसूलों के साथ 2007 में शुरू हुआ। एक ऐसी विचारधारा और विश्वास के साथ कि हम यहां के लोगों की जिंदगी में कुछ सकारात्मक परिवर्तन ला सकें। इसी सोच के साथ हमने कड़ी मेहनत के साथ अच्छे काम करने शुरू किए। हमारा काम स्वयं बोल रहा था। हमने पर्सनल लाइफ की कुर्बानियां देकर लोगों का दिल जीता। यहां तक कि मेरे अकेलेपन के बारे में भी किसी ने नहीं सोचा। हम हर साल अपने बच्चे का स्कूल बदल रहे थे। कुर्बानियों की फिक्र किए बिना हमने पूरे मनोयोग के साथ काम जारी रखा।

    यह सोच कर कि हमें ईश्वर ने कुछ बेहतर करने के लिए भेजा है। लेकिन, वो समय आ ही गया जब हम ये समझ पाए कि जो भी सोच रहे हैं, वो यहां की बदहाल सिस्टम में लागू नहीं होता है। हमने अपना उत्साह जरूर खोया, लेकिन उम्मीद कायम थी। 10 सालों के बाद वो दिन आ ही गया जब हमने अपनी उम्मीद भी खो दी। हमारी गरिमा ध्वस्त हो गई। यहां के सिस्टम के पक्षपातपूर्ण फैसले और भाई-भतीजावाद का शिकार होना पड़ा। हम भौंचक हैं कि किसी एक ने भी हमारे लिए आवाज नहीं उठाई। हमें महसूस होने लगा कि हमने जो कीमती समय यहां गुजारे, वो किसी काम के थे ही नहीं। और जब झारखंड छोड़ कर जा रहे हैं तो हम बिलकुल बदल चुके हैं। जो विश्वास लेकर झारखंड आए थे, वो बदल चुका था। ऐसी कई यादों को भी हम साथ लेकर जा रहे थे। अपने पूरे सफर में हमलोग झारखंड में रत्ती भर भी बदलाव नहीं ला सके, लेकिन झारखंड ने हमें जरूर बदल दिया था।

    हैलो मेघना, आपके दुख से मैं दुखी हूं


    इस पोस्ट पर सीएम के पूर्व प्रधान सचिव संजय कुमार ने लिखा-हैलो मेघना, हो सकता है कि तुम मुझे नहीं जानती हो, लेकिन राकेश जानता है। तुम्हारे पोस्ट से मैं दुखी हूं। तुम्हारे साथ जो दुखद अनुभव रहा है, उससे भी दुख हुआ। मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि यह समय गुजर जाएगा। लेकिन झारखंड तुम्हें बदल दे, ऐसा न होने दो। तुम जहां भी रहो, खुश रहो। तुम दोनों के लिए लंबी यात्रा सामने है। मैं यह कह सकता हूं कि इसकी भरपाई जल्द हो जाएगी और सब ठीक हो जाएगा।

    पति ने कहा, यह मेघना का व्यक्तिगत विचार


    राकेश बंसल ने कहा-मैं अभी शिफ्टिंग में व्यस्त हूं। मेघना का पोस्ट उनका व्यक्तिगत विचार है। वैसे उनके फेसबुक पोस्ट के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। इस पर उन्हीं से बात की जानी चाहिए। फेसबुक पर कोई भी पोस्ट संबंधित व्यक्ति की व्यक्तिगत पोस्ट होती है। उनका निजी मामला है। राकेश बंसल , आईपीएस

  • इस IPS की पत्नी ने FB पर बयां किया अपना दर्द, लिखा- हमारे साथ हुआ धोखा, फिर पति ने दिया ये जबाव
    +1और स्लाइड देखें
    मेघना बंसल की FB पोस्ट
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×