झारखंड / 19 साल, 3 चुनाव: भाजपा की सात सीटें बढ़ीं, झामुमो की दो, कांग्रेस ने गंवाया 1.59% जनाधार



Jharkhand Assembly Election: JMM's vote bank is 10.83 percent less than BJP
X
Jharkhand Assembly Election: JMM's vote bank is 10.83 percent less than BJP

  • इन 19 सालों में भाजपा के 7.69% वोट बढ़े, झामुमो से जुड़े 6.14% मतदाता 
  • पंद्रह साल पहले 10.05 प्रतिशत कम वोट करती थीं महिलाएं, अब 1.1 प्रतिशत अधिक कर रहीं

Dainik Bhaskar

Nov 07, 2019, 02:56 AM IST

रांची (पंकज त्रिपाठी). झारखंड मेंं चुनावी रणभेरी बज चुकी है। मुकाबला भाजपा और झामुमो गठबंधन के बीच है। सबसे अधिक वोटों की जनाधार वाली पार्टी भाजपा है, पर इसके साथ केवल आजसू है। जबकि विपक्ष में झामुमो के साथ कांग्रेस है। राजद साथ आ सकता है। झाविमो के इंकार के बावजूद उसे मनाने के प्रयास जारी हैं। 2005 में भाजपा को 23.57 प्रतिशत वोट और 30 सीटें मिली थीं। वहीं दूसरे नंबर पर रहे झामुमो को 14.29 मतों के साथ 17 सीटें मिली थीं।

 

चुनावी गुणा-भाग: भाजपा से 10.83 प्रतिशत कम है झामुमो का वोट बैंक  
 

2005

  पुरुष महिला कुल
वोटर 94.23 लाख 83.42 लाख 1.78 करोड़
वोटिंग 61.74% 51.69% 57.03%
प्रत्याशी 1296 94 1390
विधायक 78 03 81

 

2009

  पुरुष महिला कुल
वोटर 95.31लाख 85.13 लाख 1.80 करोड़
वोटिंग 59.13% 54.53% 56.96%
प्रत्याशी 1384 107 1491
विधायक 73 08 81

 

2014

  पुरुष महिला कुल
वोटर 1.08 करोड़ 98.96 लाख 2.09 करोड़
वोटिंग 65.90% 67.00% 66.42%
प्रत्याशी 1025 111 1136
विधायक 72 09 81

 

 

तीनों चुनाव में झामुमो की सीटें बढ़ीं

  2005     2009   2014
दल सीट वोट% सीट वोट% सीट वोट%
भाजपा 30 23.57 18 20.18 37 31.26
झामुमो 17 14.29 18 15.20 19 20.43
कांग्रेस 09 12.05 14 16.16 06 10.46
अन्य 25 50.16 31 48.46 19 37.85

 

 

वोटिंग और रणक्षेत्र में उतरने का ट्रेंड चुनाव दर चुनाव बढ़ा

  • 2005 में महिला-पुरुष में वोटिंग का अंतर 10.05% था जो 2014 में 1.1 बढ़ गया। दस साल में महिलाओं की वोटिंग में लगभग 11% की वृद्धि हुई।
  • महिलाओं में चुनाव लड़ने में भी रुचि बढ़ी है। 2005 में 94 लड़ीं, तीन जीतीं, 2009 में 107 लड़ीं, 8 जीतीं, 2014 में 111 महिलाएं लड़ीं और नौ जीतींं।
  • वर्ष 2005 में झारखंड का पहला चुनाव हुआ।  भाजपा को झामुमो से 9.28 प्रतिशत अधिक वोट मिले। 30 सीटें पाकर भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी। कांग्रेस और राजद ने भी 9 और सात सीटें जीत अपनी उपस्थिति कायम रखी।
  • 2009 के चुनाव में भाजपा की जोड़-तोड़ की राजनीति और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर ग्राफ गिरा। जबकि झामुमो को बढ़त मिली। 2009 में भाजपा 12 सीटें गंवा कर 18 पर पहुंची, झामुमो एक सीट बढ़ाकर भाजपा के बराबर यानी 18 सीटों पर ही पहुंच गया। 
  • 2014 चुनाव में झामुमो गठबंधन को जनता ने नकार दिया। 5 साल में तीन बार सीएम बदलने और 3 बार राष्ट्रपति शासन के कारण लोगों ने फिर भाजपा पर भरोसा जताया। भाजपा को 37 व आजसू को 5 सीटों पर जिताया। पहली बार पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना