वोटिंग ट्रेंड / राष्ट्रीय दलों का बढ़ रहा वोट प्रतिशत, दूसरे राज्य अाैर निबंधित पार्टियाें समेत निर्दलीयों के वोट घटे

सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।

  • 10 साल में भाजपा का जनाधार आठ फीसदी, झामुमो का छह फीसदी से अधिक बढ़ा

दैनिक भास्कर

Nov 26, 2019, 12:17 PM IST

रांची. झारखंड का वोटिंग ट्रेंड बताता है कि लोगों का राष्ट्रीय दलों को वोट करने की प्रवृति लगातार बढ़ रही है। राष्ट्रीय दलों में पिछले तीन चुनावों में जहां भाजपा का वोट बैंक बढ़ा है, वहीं कांग्रेस अाैर राजद का जनाधार धीरे-धीरे खिसक रहा है। 10 साल में भाजपा के जनाधार में 8% से अधिक और झामुमो का 6.50% बढ़ा है। कांग्रेस का करीब 1.5% अाैर राजद का वाेट अाैसत करीब 5% घटा है। स्टेट पार्टियों में झामुमो व झाविमो के वोटर बढ़ रहे हैं जबकि, आजसू, राजद के वोटर घट रहे हैं। निर्दलीयों के वोट में भी काफी कमी आई है। 

तीन चुनावाें के वाेटिंग ट्रेंड से समझें वाेटराें का मिजाज (वोट प्रतिशत में) 
पार्टियों का 

दल 2005 2009 2014
नेशनल पार्टी 41.84 45.45 46.05
स्टेट पार्टी 26.78 26.96 37.86
स्टेट पार्टी, दूसरे राज्यों के 7.28 2.20 2.83
रजिस्टर्ड पार्टी 8.78 14.78 6.46
निर्दलीय 15.31 10.61 6.81

राष्ट्रीय पार्टियों का 

दल 2005 2009 2014
भाजपा 23.57 20.18 31.80
कांग्रेस 12.05 16.16 10.64
बसपा 3.01 2.44 1.85
सीपीआई 1.80 0.86 0.90
सीपीएम 0.99 0.46 0.50
एनसीपी 0.43 0.32 0.35

स्टेट पार्टी

दल 2005 2009 2014
झामुमो 14.29 15.20 20.78
राजद 8.48 5.03 3.18
आजसू 2.81 5.12 3.74
जेवीएम 0.00 8.99 10.16

नोट- कांग्रेस और राजद का जनाधार पिछले 10 सालों में घटता चला गया है

राजनीतिक दलों की संख्या में अंतर 

दल 2005 2009 2014
राष्ट्रीय दल 6 7 6
स्टेट पार्टी 3 3 4
दूसरे राज्याें की पार्टी 8 9 8
रजिस्टर्ड पार्टी 33 44 32
निर्दलीय 50 63 50


राजद-जदयू का था प्रभाव, अब एक भी विधायक नहीं 
राज्य गठन के समय प्रदेश में राजद और जदयू का भी अच्छा प्रभाव था। पर अब इन दोनों दलों से एक भी विधायक नहीं हैं। वर्ष 2005 में राजद के 7 विधायक थे, 2009 में यह संख्या 5 हुई 2014 में एक भी विधायक नहीं बने। इसी प्रकार जदयू से वर्ष 2005 में 6 विधायक थे, 2009 में 2 तथा 2014 में इस दल से भी एक भी विधायक नहीं बन पाए। 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना