कोरोना इफेक्ट / मैट्रिक और इंटरमीडिएट एग्जाम के कॉपियों का मूल्यांकन अब एक अप्रैल से, वायरस के प्रकोप से डरे दिखे शिक्षक

मूल्यांकन कार्य के लिए पहुंचे शिक्षक। मूल्यांकन कार्य के लिए पहुंचे शिक्षक।
X
मूल्यांकन कार्य के लिए पहुंचे शिक्षक।मूल्यांकन कार्य के लिए पहुंचे शिक्षक।

  • सीबीएसई और आईसीएसई का मूल्यांकन कार्य भी है बंद, मूल्यांकन केंद्र पर पहुंचे शिक्षकों ने लिया निर्णय

दैनिक भास्कर

Mar 20, 2020, 06:31 PM IST

रांची. झारखंड एकेडमिक काउंसिल की मैट्रिक और इंटरमीडिएट की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन अब एक अप्रैल से शुरू होगा। शिक्षकों के विरोध के बाद जैक ने मूल्यांकन कार्य स्थगित कर दिया। शुक्रवार को शिक्षक मूल्यांकन के लिए केंद्र पर पहुंचे लेकिन थोड़ी ही देर बाद सभी ने निर्णय लिया मूल्यांकन नहीं करेंगे। उनका कहना था की जब सीबीएसई और आईसीएसई का मूल्यांकन बंद है तो जैक मूल्यांकन को लेकर इतनी जल्दी बाजी क्यों कर रहा है। कोरोना के प्रकोप से सभी शिक्षक डरे दिखे।

आज से होना था कॉपियों का मूल्यांकन
इंटर और मैट्रिक के उत्तर पुस्तिकाओं का शुक्रवार से मूल्यांकन होना था। रांची जिले में मैट्रिक और इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए 14 केंद्र बनाए गए हैं। इसमें मैट्रिक और इंटर के लिए सात-सात मूल्यांकन केंद्र बनाए गए हैं। 

रांची में इन केंद्रों पर मूल्यांकन
रांची जिले में मैट्रिक के लिए जिला स्कूल, राजकीय बालिका उच्च विद्यालय बरियातू, एसएस बालिका उच्च विद्यालय डोरंडा, संत मार्गरेट बालिका उच्च विद्यालय बहु बाजार, बेथेसदा बालिका उच्च विद्यालय, संत पॉल हाईस्कूल बहुबाजार, गोस्सनर उच्च विद्यालय को मूल्यांकन केंद्र बनाया गया है। वहीं, इंटरमीडिएट के लिए संत जॉन्स इंटर कॉलेज, संत अलोईस उच्च विद्यालय, उर्सूलाईन कान्वेंट बालिका इंटर कॉलेज, संत अन्ना बालिका इंटर कॉलेज, मारवाड़ी प्लस टू हाई स्कूल, बालकृष्णा प्लस टू हाई स्कूल और एलईबीबी हाई स्कूल शामिल हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना