झारखंड / मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर और निशंक से की मुलाकात, कहा- कई लंबित मामलों पर बनी सहमति



प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात करते रघुवर दास। प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात करते रघुवर दास।
रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करते रघुवर दास। रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करते रघुवर दास।
प्रकाश जावड़ेकर के साथ बैठक के दौरान रघुवर दास व अन्य। प्रकाश जावड़ेकर के साथ बैठक के दौरान रघुवर दास व अन्य।
X
प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात करते रघुवर दास।प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात करते रघुवर दास।
रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करते रघुवर दास।रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करते रघुवर दास।
प्रकाश जावड़ेकर के साथ बैठक के दौरान रघुवर दास व अन्य।प्रकाश जावड़ेकर के साथ बैठक के दौरान रघुवर दास व अन्य।

  • राज्य सरकार के साथ जुड़े विकास के मसलों पर हुई चर्चा

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2019, 05:40 PM IST

रांची/नई दिल्ली. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने नई दिल्ली में गुरुवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और डॉक्टर रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री और मंत्रियों के बीच राज्य के विकास के साथ जुड़े मसलों पर चर्चा हुई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों केंद्रीय मंत्रियों से बैठक में विभाग से जुड़े कई लंबित मुद्दों पर सहमति बनी है। 

 

मानसून सत्र में संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए विधेयक लाएगी झारखंड सरकार
संस्कृत विश्वविद्यालय खोलने के लिए केंद्र सरकार आर्थिक अनुदान देगी। झारखंड सरकार इसी मानसून सत्र में संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए विधेयक लायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में वर्षों से आदिवासी विश्वविद्यालय खोलने की मांग लंबित है। मध्य प्रदेश (अमरकंटक) में चल रहे आदिवासी विश्वविद्यालय का कैंपस झारखंड में खुलेगा। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉक्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने इसपर अपनी सहमति दे दी है। उन्होंने बताया कि झारखंड को कैंपा फंड का 4026 करोड़ रुपए मिलना था। केंद्रीय वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन तथा सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपने सचिव को यह राशि झारखंड सरकार को निर्गत करने का निर्देश दिया है। बड़ी नदियों के कैचमेंट एरिया को विकसित करने की योजना में झारखंड की स्वर्णरेखा और दामोदर नदी को भी शामिल किया गया है। पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने इसपर अपनी सहमति दे दी है।

 

एचईसी की 306 एकड़ भूमि पर रह रहे परिवार को पुनर्वासित करने पर बनी सहमति
गुरुवार शाम को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी से दिल्ली में मुलाकात की। इस दौरान झारखंड की शहरी विकास योजनाओं और नागरिक उड्डयन के विषय पर विस्तृत चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने बताया कि एचईसी की 306 एकड़ भूमि पर रह रहे परिवारों को पुनर्वासित करने पर सहमति बन गई है। एचईसी की जमीन पर झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले परिवारों को 107 एकड़ भूमि पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर बनाकर पुनर्वासित किया जाएगा। पीपीपी मॉडल पर दुमका में कमर्शियल पायलट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खुलेगा। इसके लिए केंद्र सरकार ने एनओसी देने पर सहमति दे दी है। मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने इस संबंध में अपने सचिव को 16 जुलाई को बैठक करने का निर्देश दिया है। 

 

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने दिल्ली में गोल मार्केट के समीप बन रहे नए झारखंड भवन के निर्माण कार्य का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और नया भवन अपने नियत समय तक बनकर तैयार हो जाएगा।

 

विपक्षी गठबंधन को बताया स्वार्थी और अवसरवादियों का गठबंधन
मुख्यमंत्री ने झारखंड में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विपक्षी गठबंधन हमारे लिए चिंता का विषय नहीं है। ये स्वार्थी और अवसरवादियों का गठबंधन है। लोकसभा चुनाव में भी ऐसे लोगों को जनता ने सबक सिखा दिया है। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता का सर्वांगिण विकास करना है। झारखंड की जनता ने 14 साल में स्वार्थियों का गठबंधन देखा है जिसमें भ्रष्टाचर होता था। अब झारखंड की जनता ने साढ़े चार साल में स्थिर सरकार को देखा है जिसमें सबसे बड़ी उपलब्धि उग्रवाद की समाप्ति है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना