गढ़वा / कोरोनावायरस को लेकर हाई अलर्ट; सरायकेला-खरसावां में एक संदिग्ध मामला, चीन में पढ़ाई कर रही थी छात्रा

चीन से लौटे छात्रों से जानकारी हासिल करते अधिकारी। चीन से लौटे छात्रों से जानकारी हासिल करते अधिकारी।
X
चीन से लौटे छात्रों से जानकारी हासिल करते अधिकारी।चीन से लौटे छात्रों से जानकारी हासिल करते अधिकारी।

  • 28 दिनों तक स्वास्थ्य विभाग सभी छात्रों पर रखेगा नजर, फिलहाल सभी छात्र संक्रमण रहित पाए गए हैं
  • सरायकेला खरसांवा की छात्रा में नहीं मिला काेराेनावायरस का लक्षण, एतिहातन रिम्स भेजा

दैनिक भास्कर

Feb 04, 2020, 07:32 PM IST

गढ़वा/जमशेदपुर. सरायकेला-खरसावां जिले में कोरोनावायरस का एक संदिग्ध मामला अाया है। संदिग्ध को एतिहात के तौर पर रांची रिम्स रेफर किया गया है। उधर, गढ़वा में भी चीन से लौटे छह छात्रों से मंगलवार को जिला प्रशासन ने संपर्क किया और उनके स्वास्थ्य की जांच की गई। गढ़वा में चीन से लौटे छात्रों से अपील की गई है कि वे 28 दिनों तक पब्लिक के बीच न जाएं। वैसे इन छात्रों में कोरोनावायरस का कोई संदेह नहीं है। इन लोगों को अगले कुछ दिनों में स्वास्थ्य संबंधित कोई भी दिक्कत होने पर सिविल सर्जन या उपायुक्त कार्यालय में संपर्क साधने को कहा गया है। 

इस संबंध में गढ़वा के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर एनके रजक की ओर से कोरोनावायरस को लेकर वाट्सएप पर एक निर्देश जारी किया गया है। पंपलेट के माध्यम से जारी निर्देश में उन्होंने कहा है कि चीन में निमोनिया के रोगियों में अचानक वृद्धि के रुप में इस वायरस की पहचान की गई। उन्होंने कहा कि अचानक बुखार, खांसी अथवा सांस लेने में परेशानी होने पर तत्काल निकवर्ती राजकीय चिकित्सालय में सूचना देकर इसकी नि:शुल्क जांच व उपचार कराया जा सकता है। इस वायरस को लेकर पूरे देश में सर्तकता बरती जा रही है। चीन से आनेवाले हर शख्स की स्वास्थ्य जांच की जा रही है। कोरोनावायरस के कारण हर दिन चीन से बड़ी संख्या में लोग अपने-अपने देश लौट रहे हैं। 

सभी छात्र संक्रमण रहित पाए गए हैं: सिविल सर्जन
गढ़वा जिले से चीन पढ़ाई करने गये छह छात्रों ने भी ऐहतियातन अपने घर लौटने का निर्णय लिया। सभी छात्र चीन से बैंकॉक होते हुए कोलकाता और फिर वहां से गढ़वा पहुंचे। गढ़वा पहुंचते ही राज्य स्वास्थ विभाग के निर्देश पर गढ़वा जिला स्वास्थ विभाग अलर्ट हो गया और सभी छात्रों की स्वास्थ्य जांच की। इस संबंध में गढ़वा के सिविल सर्जन डॉक्टर एनके रजक ने बताया कि कोरोनावायरस के मद्देनजर जिले में अलर्ट है। जैसे ही बच्चों के चीन से गढ़वा पहुंचने की सूचना मिली, उन्हें सदर अस्पताल लाकर उनके स्वास्थ्य की जांच की गयी। उन्होंने कहा कि सभी संक्रमण से रहित पाये गये हैं। बावजूद इसके इन छात्रों पर 28 दिनों तक स्वास्थ विभाग नजर रखेगा। उनका नाम और पता लिख कर रखा गया है। चीन में कोरोनावायरस से अबतक 349 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि 20 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है।

उधर, चीन के बुहान से करीब 500 किमी दूर सरायकेला-खरसावां जिले की एक छात्रा पढ़ाई कर रही थी। जब वह बीमार हुई, ताे भारत लौटी। मंगलवार काे मामला संज्ञान में आते ही जिले की रैपिड रिस्पांस टीम संदिग्ध काे लेकर सदर अस्पताल पहुंची। उपाधीक्षक डॉक्टर परमेश्वर लाल की देखरेख में आइसोलेशन वार्ड में जांच की गई। छात्रा में काेराेनावायरस का किसी भी तरह का लक्षण नहीं पाया गया। फिर भी छात्रा काे रांची रिम्स रेफर किया गया है। जिला आरसीएच पदाधिकारी डाॅक्टर जुझार मांझी ने बताया कि कोरोनावायरस को लेकर विभाग पूरी तरह अलर्ट है। सदर अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना