झारखंड / 20 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूर्व मंत्री एनोस एक्का दोषी करार, 31 मार्च को सजा के बिंदु पर सुनवाई

एनोस एक्का। (फाइल फोटो) एनोस एक्का। (फाइल फोटो)
X
एनोस एक्का। (फाइल फोटो)एनोस एक्का। (फाइल फोटो)

  • आय से अधिक संपत्ति मामले में 26 फरवरी को सीबीआई की विशेष अदालत ने सुनाई थी 7 साल की सजा
  • पूर्व मंत्री एक्का 2014 में पारा शिक्षक मनोज कुमार की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं

दैनिक भास्कर

Mar 21, 2020, 02:04 PM IST

रांची. प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के स्पेशल जज एके मिश्र ने शनिवार को पूर्व मंत्री एनोस एक्का पर चल रहे 20 करोड़ 31 लाख 77 हजार 852 रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दोषी करार दिया है। मामले में 31 मार्च को सजा का एलान हो सकता है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एनोस की पेशी हुई।

7 मार्च को कोर्ट के समक्ष ईडी के विशेष लोक अभियोजक और आरोपी एनोस के वकील ने अपनी आखिरी दलील पेश की थीं। इसके बाद कोर्ट ने मामले में अपना फैसला सुनाने के लिए 21 मार्च की तिथि निर्धारित की है। इस मामले में 7 सितंबर 2019 से बहस चल रही है। सुनवाई डे-टू-डे चल रही थी।

आय से अधिक संपत्ति मामले में सीबीआई कोर्ट सजा सुना चुकी
इससे पहले सीबीआई की विशेष अदालत ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के जुर्म में 26 फरवरी 2020 को एनोस को 7 वर्ष सश्रम कारावास की सजा दे चुकी है। एनोस फिलहाल बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में बंद हैं। एनोस एक्का पर अक्तूबर 2009 में मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में ईडी ने कुल 56 गवाहों के बयान दर्ज करवाए हैं, जबकि एनोस ने अपने बचाव में 71 गवाहों के बयान दर्ज कराए हैं। कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान ईडी की टीम ने आरोपी एनोस द्वारा खरीदी गई अचल संपत्ति से जुड़े 116 बिक्री पट्टों को अदालत में चिह्नित करवाया गया है। ईडी के विशेष लोक अभियोजक कोर्ट में बहस करते समय इन दस्तावेजों को मुख्य सबूत बताया।

हत्या के मामले में मिली है उम्रकैद की सजा
पूर्व मंत्री एनोस एक्का 2014 में पारा शिक्षक मनोज कुमार की हुई हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं। झारखंड हाईकोर्ट ने सितंबर 2019 में उन्हें जमानत दी थी। बता दें कि तीन जुलाई 2018 को जज नीरज श्रीवास्तव की कोर्ट ने उन्हें सजा सुनाई थी। शव मिलने के अगले ही दिन एनोस एक्का को अरेस्ट कर लिया गया था। इन्होंने 2005, 2009 और 2014 में कोलेबिरा विधानसभा सीट से चुनाव जीता था। 2005 और 2008 के बीच एक्का मधु कोड़ा सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना