--Advertisement--

झारखंड सरकार ने केंद्र को भेजा पत्र कहा- पाकुड़ और साहेबगंज में एनआरसी लागू करें

राज्य सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव को दो अलग-अलग पत्र भेजे

Danik Bhaskar | Aug 10, 2018, 02:24 AM IST

रांची. झारखंड सरकार ने बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान के लिए केंद्र से असम की तर्ज पर पाकुड़ और साहेबगंज जिले में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (एनआरसी) लागू करने का आग्रह किया है। राज्य के गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के संयुक्त सचिव अनिल कुमार सिंह और अवर सचिव इग्नातियुस कुल्लू ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव को दो अलग-अलग पत्र भेजे हैं। इसमें कहा गया है कि पाकुड़ और साहेबगंज जिले भारत-बांग्लादेश की सीमा से काफी करीब है।
लिहाजा बांग्लादेशी नागरिकों की अवैध घुसपैठ की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। असम में बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान के लिए सुप्रीम कोर्ट निगरानी में एनआरसी अपडेट हुआ है। इसी तरह झारखंड के इन दोनों जिलों में भी यह जरूरी है। इसलिए केंद्रीय गृह मंत्रालय इस मुद्दे पर जल्दी ही जरूरी कदम उठाए।

एजेंसियों ने किया आगाह, घुसपैठ जारी: राज्य सरकार की खुफिया एजेंसी विशेष शाखा और सीआईडी ने पहले भी कई बार सरकार को आगाह किया है कि पाकुड़ और साहेबगंज जिले में बांग्लादेशियों की घुसपैठ हो रही है। घुसपैठियों ने इन जिलों में तो ठिकाने बनाए ही हैं, अन्य जिलों में भी ये बसे हुए हैं। इन्होंने बाकायदा पहचान पत्र भी बनवा लिया है। एक रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत की नागरिकता हासिल करने के लिए ये घुसपैठिए स्थानीय लड़कियों से शादी भी कर रहे हैं।