झारखंड / लोहरदगा में लोगों ने गले मिलकर कहा- भाईचारा बरकरार रखेंगे, 6 घंटे की ढील के बाद फिर से कर्फ्यू लागू

ढील के दौरान सुभाष चौक पर तैनात रैपिड एक्शन फोर्स के जवान और चौक पर वज्र वाहन। ढील के दौरान सुभाष चौक पर तैनात रैपिड एक्शन फोर्स के जवान और चौक पर वज्र वाहन।
X
ढील के दौरान सुभाष चौक पर तैनात रैपिड एक्शन फोर्स के जवान और चौक पर वज्र वाहन।ढील के दौरान सुभाष चौक पर तैनात रैपिड एक्शन फोर्स के जवान और चौक पर वज्र वाहन।

  • लोहरदगा में कर्फ्यू के सातवें दिन 3-3 घंटे तक 2 बार की ढील दी गई, फिर से कर्फ्यू जारी
  • प्रशासन की ओर से सुबह 9 बजे से 12 बजे तक तथा 2 से 5 बजे तक ढील दी गई

दैनिक भास्कर

Jan 30, 2020, 07:29 PM IST

लोहरदगा. जिले में शांति व्यवस्था बहाल करने को लेकर गुरुवार को आला अधिकारियों ने सदर थाना क्षेत्र के जुरिया गांव में सभी धर्म समुदाय के लोगों के साथ बैठक की। मौके पर अधिकारियों ने कहा कि कुछ उपद्रवियों के वजह से आमजनों को काफी परेशानी हो रही है। गांव के ग्रामीणों सहयोग के बिना शांति व्यवस्था बहाल नहीं हो सकती। इसलिए गांव के सभी समुदाय के लोग आपसी सद्भावना के साथ एक-दूसरे की परेशानी हो देखते हुए क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाये रखने में प्रशासन का सहयोग करें। इसके बाद लोगों ने क्षेत्र में शांति वातावरण स्थापित करने को लेकर प्रतिज्ञा ली और एक दूसरे से गले मिलकर आपसी प्रेम और भाईचारगी का संदेश दिया।

कर्फ्यू में दो पालियों में छह घंटे की दी गई थी ढील

शहर में 7 दिन से लगे कर्फ्यू में गुरुवार को 3-3 घंटे तक 2 बार की ढील दी गई। शाम पांच बजे के बाद फिर से कर्फ्यू लगा दी गई। कर्फ्यू में छूट के दौरान दैनिक उपयोगी सामग्रियों की खरीदने के लिए सुबह 9 बजे से 12 बजे तक और दोपहर 2 से 5 बजे लोग घरों से निकले। जरूरत के सामानों को खरीदने के लिए भीड़ देखी गई। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कर्फ्यू में ढील के दौरान हालत पर नजर रख रहे थे। बता दें कि 23 जनवरी को सीएए के समर्थन में निकले शांति मार्च में पथराव के बाद हालात बिगड़ गए थे। मामले में अब तक 21 उपद्रवियों की गिरफ्तारी की जा चुकी हैं। 55 लोगों को बॉन्ड भरवाकर छोड़ा गया है।

चौक-चौराहों पर पुलिस की कड़ी सुरक्षा
शाम पांच बजे के बाद सभी चौक चौराहों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। ढील के बीच आईजी नवीन कुमार सिंह और डीआईजी अमोल वेणुकांत होमकर खुद कैंप कर शांति व्यवस्था बहाल करने लगे रहे। लगातार उपद्रवियों के खिलाफ छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है।

आज भी बंद रहे सभी सरकारी, गैर सरकारी स्कूल और कॉलेज
कर्फ्यू के मद्देनजर जिले के सभी सरकारी, गैर सरकारी स्कूल समेत सभी कॉलेज 30 जनवरी को भी बंद रहे। इधर, जिला प्रशासन ने सभी नागरिकों से अपील की है कि वे जिला में शांति व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस और प्रशासन का सहयोग करें। इस क्रम में जिले के सभी नागरिकों को किसी भी प्रकार के गैर कानूनी कार्य किसी भी परिस्थिति में नही करने की बात कही गई। किसी प्रकार की अफवाह और भ्रामक सूचना न फैलाएं। 

साथ ही अपील की गई कि 100 नंबर पर डायल कर अफवाह, भ्रामक सूचना फैलाने वालों की सूचना दें। धारा 144 की निषेधाज्ञा, कर्फ्यू लागू होने के कारण किसी व्यक्ति को तत्कालिक आपातकालीन सहायता की आवश्यकता हो तो मोबाइल नंबर 9471163670 पर या डायल 100 पर सम्पर्क कर सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

ड्रोन से रखी जा रही इलाकों पर नजर
शहर के कई प्रमुख स्थानों के अलावा मुहल्ले और गलियों में ड्रोन से भी नजर रखी जा रही है। अलग-अलग क्षेत्रों में मजिस्ट्रेट की निगरानी में ड्रोन का संचालन कर वस्तुस्थिति का जायजा लिया जा रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना