पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Ranchi Coronavirus Latest News | Jharkhand Navodaya Vidyalaya Proposed To Open Isolation Ward For Corona COVID 19 Patients

570 नवोदय विद्यालय में कोरोना से पीड़ित मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड खोलने का प्रस्ताव

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमित खरे। (फाइल फोटो)
  • केद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव ने सभी राज्य सरकार को लिखा पत्र
Advertisement
Advertisement

रांची. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने झारखंड सहित सभी राज्यों में स्थित नवोदय विद्यालय में कोरोना से पीड़ित मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड खोलने का प्रस्ताव दिया है। सचिव अमित खरे ने सभी राज्य सरकारों को पत्र इस बाबत पत्र लिखा है।


पत्र में कहा गया है कि देश के विभिन्न जिलों में कारोना को लेकर काफी परेशानी हो रही है। ऐसे में देश के विभिन्न राज्यों में स्थित जवाहर नवोदय विद्यालयों के आवासीय परिसर जो केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग के अंतर्गत हैं, में अस्थाई आइसोलेशन कैंप या मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई जा सकती है। उन्होंने सभी राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि देश भर में 645 जिलों में जवाहर नेहरू जवाहर नवोदय विद्यालय कार्यरत हैं। इनमें सिर्फ तमिलनाडु में 75 जवाहर नवोदय विद्यालय अस्थाई परिसर में चल रहे हैं। इसलिए वहां हॉस्टल या अन्य आधारभूत संरचनाएं कम या सीमित है। जबकि कुछ जवाहर नवोदय विद्यालयों से वहां के छात्र हॉस्टल से बाहर नहीं जा पाए हैं। 


ऐसे में देश भर के 570 जवाहर नवोदय विद्यालयों में जो अपने अस्थाई भवन में चल रहे हैं और जहां आवासीय सुविधा उपलब्ध है, उन परिसरों को अस्थाई तौर पर मेडिकल सुविधाएं या कोरोना के मरीजों के लिए आइसोलेशन के लिए उपयोग में लाया जा सकता है।


सचिव अमित खरे ने यह भी कहा है कि इसके लिए जिलों के उपायुक्तों को संपर्क करना होगा। इसके लिए नवोदय विद्यालय मैनेजमेंट कमिटी को भी एक कॉपी देनी होगी ताकि नवोदय विद्यालय समिति के कमिश्नर इस संबंध में विद्यालय के प्रिंसिपल को आवश्यक निर्देश जारी कर सकें। तब जिला प्रशासन उनसे संपर्क कर आवश्यक उपाए कर सकेंगे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप कई प्रकार की गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आ जाने से मन में राहत रहेगी। धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण...

और पढ़ें

Advertisement