पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कर्ज से परेशान युवक ने की पत्नी और दो बच्चियों की हत्या, फिर खुद फांसी लगा दी जान

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला, इसमें लिखा था- हम लोगों ने आपस में सलाह करके ये फैसला लिया है
  • ग्रामीणों के मुताबिक- वो कर्ज से परेशान था और पैसे देने वाले उस पर दबाव बना रहे थे
Advertisement
Advertisement

गढ़वा. यहां धुरकी क्षेत्र के रक्सी गांव में रविवार रात एक युवक ने अपनी दो बेटियों एवं पत्नी की हत्या कर दी। इसके बाद आरोपी ने खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। ग्रामीणों के मुताबिक, वो कर्ज से परेशान था और पैसे देने वाले उस पर दबाव बना रहे थे। इसी से परेशान होकर युवक ने यह कदम उठाया। वहीं, पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गई है। शव को कब्जे में लेने के बाद पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। 
 

पत्नी और बेटियों की हत्या कर शव को कुएं में फेंका
मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि मृतक शिव कुमार बैठा (38) ने अपनी पत्नी बबीता देवी (35), बेटी तान्या कुमारी (10) एवं श्रेया कुमारी (6) की गला दबाकर हत्या की। इसके बाद उसने पत्नी और बड़ी बेटी का शव कुएं के बाहर व छोटी बेटी का शव कुएं के अंदर फेंक दिया। इसके बाद शिव कुमार ने घर के पास ही एक पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सोमवार सुबह जब गांव के लोगों ने बबीता और तान्या का शव देखा तो पुलिस को सूचना दी। 
 

सुसाइड नोट बरामद- लिखा... किसी का कोई दोष नहीं
मृतक शिव कुमार के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ। इसमें लिखा है कि हम लोगों ने आपस में सलाह कर ये फैसला लिया है। इसमें किसी का कोई दोष नहीं। पुलिस ने बताया कि मृतक खेती और मजदूरी करता था। ग्रामीणों से पूछताछ में पता चला है कि कर्ज को लेकर कुछ दिनों से वो परेशान था।
 

कई जगहों से लिया था उधार 
शिव कुमार बैठा मजदूरी का काम करता था। कई बार वह दूसरे राज्यों में भी जाकर काम किया है। लेकिन अत्यधिक महत्वाकांक्षी होने के कारण वह लगातार कई जगहों से पैैसे उधार ले चुका था। जिन सस्थानों से उसने उधार लिया था उनमें कैशपार, आरोहन, स्पंदना नन बैंकिंग संस्था के नाम शामिल है। इसमें अकेले स्पंदना नन बैंकिंग संस्था से ही उसने डेढ़ लाख कर्ज रुपए कर्ज ले लिया था। इसके अलावे वह गांव में महाजनों से 3.50 लाख रुपए कर्ज लिय हुआ था। मृतक के पिता रामनाथ बैठा ने पुलिस को बताया कि उसका बेटा बिमार था। वह रांची में इलाज कराने जाने की बात कह रहा था। पिता ने यह भी कहा कि उसके बेटे ने किसी भी तरह की समस्या उनसे नहीं बतायी थी। ना ही किसी बात का विवाद था।

15 दिन पहले इलाज कराकर लौटा था शिवकुमार
बीडीसी पति कृष्णा बैठा जो रिश्ते में मृतक के मामा लगते हैं। उन्होंने बताया की 15 दिन पूर्व बनारस से स्वयं अपना इलाज करवाकर वापस घर आया था। उसके मामा ने बताया चार माह से वह कर्ज वापसी और व्यक्तिगत कर्ज देने वाले कर्जदाता उसके दरवाजे पर तगादा करने जाते थे। जिससे परेशान था। बहुत ही चिंतित था। इसी कारण उसका तबीयत खराब रह रहा था।
 

जांच पड़ताल में जुटी पुलिस
घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक शिवानी तिवारी धुरकी थाने में पहुंच कर थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार, डीएसपी नीरज कुमार से घटना की पूरी जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि पुलिस सभी पहलुओं पर गहनता से जांच कर रही है। घटना को देखने के बाद लगता है जैसे शिवकुमार ने पहले अपनी पत्नी व दोनों बेटियों की कुआं में डूबाकर कर हत्या कर दी। इसके बाद घर के पास स्थिति पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार शिवकुमार पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान था। बेटियों की कई माह की फीस भी बाकी थी। इससे भी परेशान था। 
 

रिपोर्ट: मुनीर खान।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप कई प्रकार की गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आ जाने से मन में राहत रहेगी। धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण...

और पढ़ें

Advertisement