झारखंड / तीन लोगों की हत्या के बाद माेहल्ले में सन्नाटा, घर में रहने से डर रहे किराएदार व मकान मालकिन

शुक्रवार की रात हत्या के बाद पत्नी के शव के पास बैठा रहा था आरोपी ब्रजेश तिवारी। शुक्रवार की रात हत्या के बाद पत्नी के शव के पास बैठा रहा था आरोपी ब्रजेश तिवारी।
X
शुक्रवार की रात हत्या के बाद पत्नी के शव के पास बैठा रहा था आरोपी ब्रजेश तिवारी।शुक्रवार की रात हत्या के बाद पत्नी के शव के पास बैठा रहा था आरोपी ब्रजेश तिवारी।

  • घटना के बाद पड़ोसी घर छोड़कर चलकर चले गए हजारीबाग
  • 31 जनवरी की रात पुलिसकर्मी ने की थी पत्नी और दो बच्चों की हत्या
  • आरोपी सिपाही ब्रजेश का रिम्स में हो रहा इलाज, ठीक होने पर भेजा जाएगा जेल

दैनिक भास्कर

Feb 03, 2020, 12:05 PM IST

रांची. सदर थाना क्षेत्र के बड़गाई में शुक्रवार की रात पत्नी व बेटा-बेटी की हत्या के बाद से पूरे माेहल्ले में रविवार को सन्नाटा छाया रहा। वहां से अाने-जाने वाले लाेग दबी जुबान से उस घर की अाेर इशारा करते हुए कहते रहे कि पुलिस जवान ब्रजेश तिवारी ने अपनी पत्नी रीना तिवारी, बेटी खुशबू कुमारी अाैर बेटा बादल तिवारी की हथाैड़ी से मारकर हत्या कर दी। वहीं ब्रजेश के मकान का माहाैल इतना डरावना हाे चुका है कि लाेग वहां रहना नहीं चाह रहे। ब्रजेश तिवारी के कमरे के बगल में ही किराए पर रहने वाले साैरभ सिंह अपनी पत्नी व बच्चे काे लेकर हजारीबाग चले गए हैं।

वहीं, उसी घर में रहने वाली एक अन्य किराएदार अपने रिश्तेदार के घर चली जाती हैं। काम से पति के घर अाने पर ही वह लौटती हैं। मकान मालकिन भी दिन में अकेले घर में रहने से डर रही हैं। उन्होंने बताया कि पति के ड्यूटी पर चले जाने के बाद घर में अकेले रहने की हिम्मत नहीं होती। यही वजह है कि उन्होंने अपनी मां काे बुला लिया है। हालांकि इसके बाद भी उन्हें दिन में भी डर लग रहा है।

पीसीअार 9 के एएसअाई के बयान पर प्राथमिकी दर्ज
इस मामले में पीसीअार 9 के एएसअार्इ शिवजी मंडल के बयान पर अाराेपी जवान ब्रजेश तिवारी के खिलाफ सदर थाना में हत्या का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल अाराेपी जवान का रिम्स में इलाज किया जा रहा है। सदर पुलिस का कहना है कि ब्रजेश की सेहत में सुधार हाेने के बाद उसे जेल भेज दिया जाएगा। पत्नी व बेटा-बेटी का हत्या करने के बाद ब्रजेश ने चूहा मारने वाले की दवा खाकर खुद भी अात्महत्या करने का प्रयास किया था। हालांकि समय रहते पुलिस माैके पर पहुंच गई और उसे रिम्स में भर्ती कराया गया था।

ब्रजेश के घर और ससुराल में मातम

रीना के पिता बोले...शादी के बाद से ही दोनों काफी खुश थे
मृतक रीना के गढ़वा के कामता गांव स्थित मायके में मां व पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। उसके पिता वशिष्ठ पांडेय व मां गायत्री देवी ने कहा कि रीना की शादी वर्ष 1997 में तोलरा गांव के ब्रजेश कुमार तिवारी के साथ की थी। विवाह के बाद से ही दोनों काफी खुश थे। घटना की भी सूचना खुद ब्रजेश ने फोन कर दी थी। सूचना देने के तुरंत बाद उसने फोन भी काट दिया था। हमलोगों को विश्वास ही नहीं हो रहा है कि मेरी बेटी, नाती व नतिनी अब इस दुनिया में नहीं रहे।

कोयल के तट पर हुआ ब्रजेश की पत्नी व बच्चों का अंतिम संस्कार
ब्रजेश तिवारी की पत्नी व उसके दोनों संतान का अंतिम संस्कार रविवार को पलामू विश्रामपुर में तोलरा कोयल नदी के तट पर किया गया। इसके पहले रिम्स में तीनों शव के पोस्टमार्टम होने के बाद शनिवार की देर रात तोलरा पहुंचा। ब्रजेश के पिता सुरेश तिवारी व भाई राजू तिवारी ने बताया कि उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि इतनी बड़ी घटना को अंजाम देने की बात उसके दिमाग में कैसे आई। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना