पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

झारखंड को मिले 2504 दारोगा, साइबर क्राइम राेकने पर विशेष फाेकस

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पासिंग आउट परेड के दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास।
  • पुलिस एकेडमी हजारीबाग के अलावा जंगल वारफेयर स्कूल नेतरहाट अाैर पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पदमा में भी दिया गया है प्रशिक्षण
  • उग्रवाद मुक्त, अपराध मुक्त झारखंड बनाने में नव नियुक्त सब इंस्पेक्टर महत्वपूर्ण योगदान देंगे: रघुवर दास
  • वर्तमान सरकार ने 25 वर्ष बाद यानि 1994 के बाद पहली बार 2504 की संख्या में पुलिस अवर निरीक्षकों की नियुक्ति की है

हजारीबाग. झारखंड को सोमवार को एक साथ 2504 सब इंस्पेक्टर मिल गए। हजारीबाग पुलिस एकेडमी में पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्य अतिथि रघुवर दास शामिल हुए। वर्तमान सरकार ने 25 वर्ष बाद यानि 1994 के बाद पहली बार 2504 की संख्या में पुलिस अवर निरीक्षकों की नियुक्ति की है। इनमें 2296 परुष और 210 महिला सब इंस्पेक्टर शामिल हैं। सब-इंस्पेक्टर का प्रशिक्षण पानेवालों में 256 बीटेक और 9 एमटेक डिग्रीधारी भी शामिल हैं। सब इंस्पेक्टर के लिए हुई परीक्षा में झारखंड के अलावा बिहार, यूपी, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, बंगाल, हरियाणा के भी अभ्यर्थियों ने सफल होकर प्रशिक्षण प्राप्त किया है। इन्हें जेपीए हजारीबाग, जेडब्लूएफएस नेतरहाट और जेएपीटीसी पदमा में भी प्रशिक्षण दिया गया है। 
 

मुख्यमंत्री ने नवनियुक्त सब इंस्पेक्टरों को दी शुभकामनाएं
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने नवनियुक्त पुलिस अवर निरीक्षकों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि उम्मीद करता हूं, आप झारखंड को उग्रवाद व अपराध मुक्त बनाने में अपना योगदान देंगे। आपके माता-पिता आज गौरवान्वित हैं। इनका गौरव यूं ही बरकरार रहे। आप पूरी ईमानदारी से कार्य करते हुए जनता से मित्रवत संबंध बनाएंगे। आपके कंधों पर महत्वपूर्ण भूमिका रखी जा रही है। आप आम जनता से संवाद कर, उनसे समन्वय स्थापित कर उनकी परेशानियों को कानून सम्मत हल करेंगे। ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हजारीबाग में आयोजित पुलिस अवर निरीक्षकों के पासिंग आउट परेड समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही।
 

लंबे अंतराल के बाद नियुक्ति हुई, प्रशिक्षण भी राज्य में दिया
मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे अंतराल के बाद इतनी संख्या में सब इंस्पेक्टर की नियुक्ति हो रही है। राज्य गठन के बाद उग्रवाद हमें विरासत में मिली। 2014 के बाद से उग्रवाद पर नियंत्रण का हमने भरपूर प्रयास किया, जिसमें हमें सफलता भी मिली। अब आपके आ जाने से राज्य में कार्यरत 70 हजार पुलिसकर्मियों को आपका सहयोग मिलेगा। प्रशिक्षण के दौरान भी आपने राज्य की विधि व्यवस्था का कुशलता पूर्वक निर्वहन किया है। आप सभी के प्रशिक्षण से पूर्व प्रशिक्षण का कार्य झारखण्ड से बाहर अन्य राज्य में होता था। जब यह बात मेरे संज्ञान में आई तो सरकार ने राज्य के तीनों प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षण करने का निर्णय लिया और इस कार्य में हम सफल भी हुए। मैं उन सभी को बधाई देता हूं, जिन्होंने निर्बाध रूप से प्रशिक्षण कार्य संपन्न कराया।
 

प्रशिक्षण केंद्रों को विकसित किया जाएगा
मुख्यमंत्री ने बताया कि नेतरहाट स्थित जंगल वार फेयर को पूर्वी क्षेत्र का सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण केंद्र होने का गौरव प्राप्त हुआ है। आने वाले दिनों में सीटीसी मुसाबनी, हजारीबाग प्रशिक्षण केंद्र एवं जंगल वार फेयर नेतरहाट को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाएगा।
 

आप अपने कौशल का भरपूर उपयोग करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि नवनियुक्त पदाधिकारियों को अत्याधुनिक हथियार चलाने एवं बदलते समय के अनुरूप साइबर क्राइम एवं कंप्यूटर का प्रशिक्षण दिया गया है आज साइबर क्राइम तेजी से बढ़ रहा है आपको तेजी से बढ़ रहे इस साइबर क्राइम समेत अन्य अपराध पर अंकुश लगाना है निमित्त आपको सरकार ने प्रशिक्षण देने की कोशिश की है। सभी नवनियुक्त अवर निरीक्षक उच्च शिक्षा से आच्छादित हैं। आप अपनी शिक्षा और प्रशिक्षण से मिले तकनीकी जानकारी का भरपूर उपयोग करते हुए अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करें।
 

नक्सलवाद की समस्या को दूर करने में सहयोगी होंगे
पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे ने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में नियुक्ति हो रही है या गर्व की बात है। ये नियुक्तियां स्वच्छ व पारदर्शी तरीके से हुई है। सभी को उनकी नियुक्ति के लिए बधाई। सरकार और जनता को आपसे उम्मीदें हैं। प्रशिक्षु अवर निरीक्षक गेमचेंजर के रूप में साबित होंगे। आपके सहयोग से नक्सलवाद की समस्या के निवारण को महत्वपूर्ण आयाम मिलेगा। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे, उपायुक्त हजारीबाग, अपर पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार पालटा, पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण प्रिया दुबे, डीजी मुख्यालय, डीजी होमगार्ड, अपर पुलिस महानिदेशक, जंगल वार फेयर के डीआईजी, डीआईजी हजारीबाग, अवर पुलिस निरीक्षक समिति अन्य उपस्थित थे।
 

खास बातें 

  • 2296 पुरुष अाैर 210 महिला सब-इंस्पेक्टराें में 256 बीटेक अाैर 9 एमटेक डिग्रीधारी भी हैं
  • झारखंड के 2021, बिहार के 419, उत्तर प्रदेश के 48, पश्चम बंगाल के 7 व अन्य राज्यों से नौ दारोगा शामिल हैं।
  • 23 से 25 वर्ष के 487, 25स 27 वर्ष के 944, 27 से 29 वर्ष के 686, 29 -31 वर्ष के 295 और 31 वर्ष के 92 सब इंस्पेक्टर शामिल हैं।
  • बीटेक-एमटेक के अलावा बीसीए के 39, बीएससी के 683, बीएससी आईटी के 14, बीकॉम के 153, एमए 16, एमएससी 26 और अन्य उपाधि के 08 एसआई शामिल हैं।

 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें