विज्ञापन

बैठक / झारखंड में झामुमो के अलावा सीएम के सामने है कौन: हेमंत सोरेन

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 07:23 PM IST


जेएमएम केंद्रीय कार्यसमिति की विस्तारित बैठक में लिए गए निर्णयों से मीडिया को कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने अवगत कराया। जेएमएम केंद्रीय कार्यसमिति की विस्तारित बैठक में लिए गए निर्णयों से मीडिया को कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने अवगत कराया।
X
जेएमएम केंद्रीय कार्यसमिति की विस्तारित बैठक में लिए गए निर्णयों से मीडिया को कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने अवगत कराया।जेएमएम केंद्रीय कार्यसमिति की विस्तारित बैठक में लिए गए निर्णयों से मीडिया को कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने अवगत कराया।
  • comment

  • 10 दिसंबर से 10 जनवरी तक झारखंड मुक्ति मोर्चा चलाएगा विशेष सदस्यता अभियान
  • 10 दिसंबर को दिल्ली में बुलायी गई महागठबंधन की बैठक में भाग लेंगे हेमंत सोरेन

रांची. झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने कहा है कि झारखंड में झामुमो व उनके अलावा मुख्यमंत्री के सामने है कौन? अगर वह यहां से ज्यादा छत्तीसगढ़ पर ध्यान दें तो उन्हें काफी अाउटपुट मिलेगा। झारखंड में तो उनके लिए दरवाजे बंद हो चुके हैं। हेमंत सोरेन उस सवाल पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे, जिसमें कहा गया था कि मुख्यमंत्री लगातार संतालपरगना में कैंप किए हुए हैं। आप पर और झामुमो पर लगातार हमला कर रहे हैं। वह पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन की अध्यक्षता में शनिवार को हुई केंद्रीय कार्यसमिति की विस्तारित बैठक में लिए गए निर्णयों से मीडिया को अवगत करा रहे थे।


 

पार्टी राज्य में 50 लाख नए सदस्य बनाएगी

  1. उन्होंने बताया कि 10 दिसंबर को दिल्ली में महागठबंधन की बैठक है। अहमद पटेल का फोन अाया था। वह इस बैठक में हिस्सा लेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि झामुमो पूरे राज्य में प्रखंड स्तर पर रोजगार दो, अभियान चलाएगा। 10 दिसंबर से 10 जनवरी तक विशेष सदस्यता अभियान चलाएगा। इसके माध्यम से पार्टी राज्य में 50 लाख नए सदस्य बनाएगी।


     

  2. राजनीति केवल कोलेबिरा तक सीमित नहीं

    कोलेबिरा के मुद्दे पर पार्टी विधायक पॉलुस सुरीन की नाराजगी पर हेमंत सोरेन ने कहा कि चुनाव के समय टिकट बंटवारे को लेकर तरह तरह की भावनाएं उभरती है। लेकिन राजनीति केवल कोलेबिरा तक सीमित नहीं है। पैमाना बड़ा है। उसी के अनुरूप पार्टी निर्णय करती है और संगठन चलता है।


     

  3. रोजगार दो अभियान शुरू करेगी

    हेमंत सोरेन ने कहा कि पूरा राज्य लगभग सूखाग्रस्त हो चुका है। सरकार ने भी इसे मान लिया है। पर अभी सर्वे और सर्वेक्षण और बैठकें ही हो रही है। किसान मजदूर को कोई लाभ नहीं मिला है। किसान मजदूरों के हित में पार्टी ने प्रखंड स्तर तक रोजगार दो अभियान शुरू करेगी। मनरेगा मजदूरों को लेकर आंदोलन चलाएगी।

     

     

  4. सात लाख जॉब कार्ड डिलीट कर दिए गए

    उन्होंने बताया कि 2016-17 से 2018-19 तक सात लाख जॉब कार्ड डिलीट कर दिए गए हैं। मनरेगा में समय पर मजदूरी नहीं मिलने पर बेरोजगारी भत्ता दिए जाने का प्रावधान है। 15 दिन नहीं मिलने पर 25 प्रतिशत और 30 दिन तक नहीं मिलने पर 50 फीसदी। लेकिन इसका कोई भुगतान नहीं हो रहा है। उन्होंने दावा किया कि 2017-18 में सरकार मनरेगा में 75 करोड़ तक की राशि खर्च नहीं की। वह लैप्स कर गई। अभियान के तहत मनरेगा में 33 फीसदी महिलाओं को पांच किलोमीटर के दायरे में मजदूरी दिए जाने की मांग की जाएगी। उन्होंने भूख से एक महिला की फिर हुई मौत पर भी सरकार को घेरा और कहा कि यह सिलसिला कब तक चलता रहेगा।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन