--Advertisement--

राजनीति / झाविमो ने कहा- स्वच्छता अभियान का सच, रांची में फैले डेंगू, मलेरिया व चिगनगुनिया काफी



झारखंड विकास मोर्चा के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह। (फाइल) झारखंड विकास मोर्चा के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह। (फाइल)
  • योगेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा-अगर सरकार वास्तव में स्वच्छता पर ध्यान देती तो यहां चिकनगुनिया, डेंगू, हैजा, मलेरिया जैसे रोग व्यापक पैमाने पर पांव नहीं पसरता
Danik Bhaskar | Sep 16, 2018, 06:18 PM IST

रांची. झारखंड विकास मोर्चा के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा है कि सरकार द्वारा 15 सितम्बर से शुरू किया गया स्वच्छता अभियान पखवारा भाजपा के ड्रामेबाजी की पराकाष्ठा के सिवा कुछ नहीं है। चार वर्षों में रांची को स्वच्छ तो बना नहीं सके। केवल कागजों में सर्वेक्षण में अव्वल दिखाकर लोगों की आंखों में धूल झोंका गया। जमीनी हकीकत भयावह है। अगर सरकार वास्तव में स्वच्छता पर ध्यान देती तो यहां चिकनगुनिया, डेंगू, हैजा, मलेरिया जैसे रोग व्यापक पैमाने पर पांव नहीं पसरता।

 

मुख्यमंत्री को सरयू आंकड़ों के साथ सबकुछ बिंदुवार बता देंगे
उन्होंने कहा- सरकार गांवों में जाकर शौचालयों की स्थिति का जमीनी आंकलन कर ले, उसे आईना दिख जाएगा। कागजी रिपोर्ट पर ओडीएफ घोषित करने पर सरकार की ही किरकिरी कई बार हुई है। अगर विपक्ष गलत बोल रहा है तो एक बार रघुवर को सरयू राय से ही इस मामले में एनओसी ले लेनी चाहिए। सीएम को सरयू आंकड़ों के साथ सबकुछ बिंदुवार बता देंगे। रांची जैसे प्रमुख स्थान में नगर निगम की स्थिति किससे छुपी है। यह नगर निगम की बजाय नरक निगम के नाम से अधिक जाने जाना लगा है।

 

भाजपा विकास कार्यो की बजाय केवल नौटंकी कर रही
खुद नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने दो-तीन दिन पूर्व दिशा की बैठक में कहा कि चारों ओर गंदगी का अंबार है। राजभवन की दीवारों पर लोग शौच करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि नगर निगम के टोल फ्री नंबर में उन्होंने छह बार फोन किया परंतु कोई रिस्पांस नहीं मिला। सच्चाई यह है कि भाजपा विकास कार्यो की बजाय केवल नौटंकी कर रही है। सभी मिले हुए हैं।  जनता 2019 का इंतजार कर रही है।

--Advertisement--